Anand Joshi

Anand Joshi

निखिल के साथ- एक कहानी, कुछ कहती है- ये श्श्श्श्श् श्मशान है !

जोधपुर। जहां जिंदगी दम तोड़, मौत से यारी निभाती है। बचती है तो कुछ यादें- कुछ बातें पुरानी। जिस्म तो राख होता है यहां। भागती- दौड़ती जिंदगी में, कुछ लोग है जिनमें मानवता जिंदा है। श्मशान में खुशी से कौन आना चाहता है, मगर कुछ है, जो यहीं खुशियां तलाशते है। सेवा करते है। आखिर …

continue reading

लोक-रिवाज में आज जोधपुर से विवाह गीत वीरा के बारे में…देखें वीडियो में

जोधपुर। राजस्थान के मारवाड़ हिस्से में शामिल जोधपुर का अपना एक रंग है। यहां मेले-त्यौहार और विवाह के अपने रंग है। ये दुनियां के किसी अन्य हिस्से में देखने को नहीं मिलेंगे। तेजी से भागती जिंदगी और उस पर तकनीक के युग ने विवाह गीतों के प्रस्तुतिकरण का तरीका भले ही बदल दिया हो लेकिन …

continue reading

…वो 19 बरस का वीर

खुदीरामबोस जयन्ती ( जन्म 3 दिसंबर, 1889) उम्र महज 19 बरस। नाम खुदीराम बॉस। बचपन में ही खोया माता-पिता का प्यार। लालन पालन बड़ी बहन ने किया। सन् 1905 ई. में बंगाल का विभाजन होने के बाद खुदीराम बोस देश के मुक्ति आंदोलन में कूद पड़ा। सत्येन बोस के नेतृत्व में बालक बॉस ने अपना …

continue reading