पुलिस कॉन्स्टेबल द्वारा परिवार सहित आत्महत्या के मामले की जांच उच्च अधिकारी करेंगे : कटारिया

जयपुर। गृह मंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने शुक्रवार को विधानसभा में कहा कि नागौर जिले में 21 जनवरी, 2018 को पुलिस कॉन्स्टेबल श्री गेना राम द्वारा अपनी पत्नी एवं 2 बच्चों के साथ आत्महत्या के करने के मामले में जांच के लिए आईजी स्तर के अधिकारी को लगाया जायेगा तथा निष्पक्ष जांच के लिए वृत्त अधिकारी को हटाया जायेगा। कटारिया ने शून्यकाल में उठाए गये इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करते हुए कहा कि एक परिवार के 4 लोगों के एक साथ आत्महत्या करने का मामला बहुत ही गंभीर और दुःखद है। उन्होंने कहा कि मृतक गेना राम द्वारा सुसाइड नोट में जिन 3 व्यक्तियों का नाम लिखा गया था उनमें से एक सहायक उप निरक्षक राधाकिशन को राज्य सरकार द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए निलंबित कर दिया गया था एवं अन्य 2 व्यक्ति पुलिस विभाग से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। गृह मंत्री ने कहा कि मृतक गेना राम ने अपने सुसाइड नोट में पुलिस के कुछ अधिकारियों द्वारा जानबूझकर झूठा चोरी का आरोप लगा कर पूरे परिवार को प्रताड़ित करने तथा उसके नाबालिग बेटे को गिरफ्तार कर, मारपीट करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए सुसाइड नोट का गहन परीक्षण उच्च अधिकारियों द्वारा करवाया जायेगा ताकि मामले की तह तक पहुंचा जा सके। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता देने का भी आश्वासन दिया।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: