सूरजकुंड मेले में राजस्थानी सांस्कृतिक संध्या का आयोजन

राजस्थान के लोक कलाकारों ने दी मनमोहक प्रस्तुत

जयपुर। दिल्ली एन.सी.आर. में स्थित फरीदाबाद में चल रहे 17 दिवसीय 32वें अंतराष्ट्रीय सूरजकुंड क्राफ्ट मेंले में सोमवार को आयोजित राजस्थानी सांस्कृतिक संध्या में राजस्थान के लोक कलाकारों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने ऎसा समां बांधा कि दर्शक मंत्रमुग्ध हो गये। दिल्ली में राजस्थान पर्यटक स्वागत केन्द्र की अतिरिक्त निदेशक डॉ. गुणजीत कौर ने बताया कि मेले के चौपाल मंच पर दो घंटे से भी अधिक चले सांस्कृतिक कार्यक्रम में राजस्थान की विश्व प्रसिद्ध कालबेलियां नृत्यांगनाओं सहित प्रदेश के विभिन्न अंचलों से आये लोक कलाकारों ने ऎसा समां बांधा कि दर्शक नयनाभिराम प्रस्तुतियां देखने में मग्न हो गये। कलाकारों के भवई नृत्य, खारी नृत्य, कच्छी घोड़ी नृत्य आदि को दर्शकों ने खूब सराहा। उन्होंने बताया कि जोधपुर के रफीक लंगा द्वारा प्रस्तुत खडताल वादन एवं गायन और अलवर के घनश्याम प्रजापत के खारी नृत्य, महमूद खान मेवाती द्वारा प्रस्तुत भपंग वादन, श्री बनय सिंह प्रजापत के भवई नृत्य ने दर्शकों को पूर्ण आनंदित किया।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: