खानसामा (शेफ) ने किया राजस्थान की स्वादिष्ट डिश बनाने का जीवन्त प्रदर्शन

जयपुर। दिल्ली के ऎतिहासिक लाल किला प्रांगण में आयोजित छह दिवसीय भारत पर्व में विशेष रूप से बनाये फूड कोर्ट में सोमवार को पैलेस ऑन व्हील्स रेलगाड़ी के शेफ (खानसामा) ने अपरान्ह राजस्थानी पाक कला का लाइव डेमोस्ट्रेशन किया गया। विश्व प्रसिद्ध शाही रेलगाडी के शेफ श्री परितोष मंगल ने बेसन गट्टा की सब्जी और कैर सांगरी बनाने का सजीव प्रदर्शन किया। इस मौके पर उन्होंने कैर सांगरी और बेसन गट्टा बनाने की सम्पूर्ण विधि, उनमें उपयोग में आने वाली सामग्री,मसाले, सूखे मेवे आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी और मौजुद लोगाें के प्रश्नों के जवाब भी दिए। उन्होंने बताता कि शाही रेलगाड़ी वे देशी विदेशी पर्यटको को हर प्रकार का खाना बना कर उपलब्ध करवाते है,लेकिन राजस्थान के लजीज व स्वादिष्ट भोजन की मांग बहुत अधिक रहती है। उन्होंने कैर सांगरी को लेकर दर्शको की विशेष उत्सुकता पर पूछे सवालों का जवाब देते हुए बताया कि रेगिस्तान प्रधान प्रदेश राजस्थान में जब हरी सब्जियां आसानी से उपलब्ध नही होती थी ,तब प्राकृतिक पेड़ पौधों से मिलने वाले कैर व सांगरी को मिला कर यह पारम्परिक सब्जी मेहमानों को परोसी जाती थी। आज भी कैर सांगरी की सब्जी व अचार गांव से लेकर पांच सितारा होटलों तक राजस्थान के लजीज भोजन के स्वाद का अभिन्न हिस्सा बनी हुई है। मंडल द्वारा मोके पर तैयार दोनों स्वादिष्ट व्यंजनो की डिश उपस्थित लोगों को परोसी गई लोगाें ने इनके स्वाद को बहुत पसंद किया। राजस्थान पर्यटन सूचना केंद्र की अतिरिक्त निदेशक डॉ.गुंजीत कौर ने बताया कि भारत पर्व में पहली बार केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय ने इंडिया फूड क्राफ्ट इंस्टीट्यूट, पूसा के सहयोग से भारत का खाना खजाना दर्शाने के लिए भारतीय पाक कला के लाइव डेमोस्ट्रेशन का कार्यक्रम रख विभिन्न प्रान्तों के शेफ बुला कर विभिन्न प्रदेश के बावर्चियों से मौके पर ही खाना बनाने का जीवन्त प्रदर्शन करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लाल किले में बने फूड कोर्ट में राजस्थान के बाबूलाल केटलर द्वारा लगाये गए फूड स्टॉल पर भी राजस्थानी व्यंजनों की विभिन्न डिश का स्वाद चखने लोग उमड़ रहे है।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: