सीडीपीओ दफ्तरों पर एसीबी की छापेमारी

– सप्लाई किये गये फर्नीचर की चैकिंग, सील किया
श्रीगंगानगर। प्रदेश में समाज कल्याण विभाग के अधीन चल रहे बाल कल्याण एवं महिला विकास कार्यालयों (सीडीपीओ) के लिए सप्लाई किये गये फर्नीचर के घटिया होने का भंडाफोड़ होने तथा इसमें करोड़ों रुपये के घपले की बू आने पर गुरुवार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा एक साथ कईं जगहों पर छापेमारी की गई। यह घोटाला दो-तीन दिन पूर्व सवाई माधोपुर में एसीबी की एक कार्रवाई के दौरान उजागर हुआ, जिसके बाद जयपुर में एसीबी के उच्चाधिकारियों के निर्देश पर गुरुवार को अनेक स्थानों पर सीडीपीओ दफ़्तरों में पिछले दिनों आये फर्नीचर की चैकिंग की गई। श्रीगंगानगर जिले के अनूपगढ़ कस्बे में स्थित सीडीपीओ ऑफिस में फर्नीचर चैकिंग का कार्य ब्यूरो की श्रीगंगानगर चौकी के प्रभारी, अवर एसपी राजेन्द्र प्रसाद ढिढारिया की अगुवाई में की गई। उधर, हनुमानगढ़ जिले में ब्यूरो की चौकी के डीएसपी गणेशदास सिद्ध की अगुवाई में कईं जगहों पर चैकिंग चल रही है। ब्यूरो से प्राप्त जानकारी के मुताबिक श्रीगंगानगर जिले में सिर्फअनूपगढ़ में स्थित सीडीपीओ कार्यालय में यह फर्नीचर सप्लाई
हुआ है। इसमें 60 कुर्सियां और 60 मेजे हैं। अवर एसपी राजेन्द्र प्रसाद ढिढारिया और उनकी टीम ने आज इन कुर्सियों और मेजों की क्वालिटी को चैक किया। इनका, विभाग द्वारा जारी किये गये टेंडर के स्पेसिफिकेशन से मिलान करके देखा कि इनका वजन और मोटाई सही है या नहीं। अवर एसपी ढिढारिया ने बताया कि यह मेज और कुर्सियां स्पेसिफिकेशन के अनुसार नहीं थी। इनकी क्वालिटी अमानक पाई गई है। इनको सील कर दिया गया है। इस सम्बंध में रिपोर्ट तैयार कर मुख्यालय को भेजी जा रही है। श्रीगंगानगर में सीडीपीओ के दो तथा जिले में कईं दूसरे शहरों मेें भी सीडीपीओ के ऑफिस हैं, लेकिन वहां यह फर्नीचर सप्लाई नहीं हुआ है। जानकारी के अनुसार हनुमानगढ़ जिले में सीडीपीओ के पांच-छह कार्यालयों में फर्नीचर की सप्लाई हुई है, जिसकी चैकिंग समाचार लिखे जाने तक जारी थी। उधर, बीकानेर में कहीं भी चैकिंग
नहीं की गई। सूत्रों के मुताबिक बीकानेर में ब्यूरो की दो चौकियंा, यहां तक कि एसपी का कार्यालय होने के बावजूद चैकिंग नहीं की गई। बताया जा रहा
है कि स्टाफ की कमी के कारण चैकिंग नहीं करवाई गई। चूरू जिले में चैकिंग होने की अपुष्ट जानकारी मिली है। बता दें कि फर्नीचर सप्लाई में करोड़ों का घपला होने का अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है। सवाई माधोपुर में दो दिन पहले की गई चैकिंग में फर्नीचर सप्लाई में बड़े पैमाने पर गड़बडिय़ां पकड़ी गई थीं, जिसके बाद ब्यूरो पूरे प्रदेश में इस फर्नीचर की चैकिंग करवा रहा है। इस मामले को लेकर समाज कल्याण विभाग के जयपुर स्थित कईं उच्चाधिकारी और फर्नीचर सप्लाई का ठेका लेने वाली कम्पनी सभी संदेह के घेरे में हैं।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: