महाराजा अग्रसेन कृषि महाविद्यालय के प्रबंधकों पर धोखाधड़ी व जालसाजी का मामला दर्ज

– एडमिशन के नाम पर ऐंठ लिये एक लाख 40 हजार
सूरतगढ़। सूरतगढ़ में कृषि महाविद्यालय के प्रबंधकों पर धोखाधड़ी एवं जालसाजी का मुकदमा दर्ज हुआ है। कोर्ट इस्तगासा के तहत दर्ज मुकदमे में राजपाल भादू ने अपने पुत्र मनीष भादू को मानसिक रूप से प्रताडि़त वह धोखाधड़ी करने का आरोप महाराजा अग्रसेन कृषि महाविद्यालय के प्रबंधकों नवीन खेमका ,अनिल धानुका, राकेश गुप्ता पर लगाया है। मुकदमे में राजपाल भादू ने बताया है कि उसके पुत्र का एडमिशन करवाने के लिए वह तथा उसका साला पुत्र को साथ लेकर कृषि महाविद्यालय में गये थे। प्रबंधकों ने कहा कि अब एडमिशन नहीं होगा। अगर एडमिशन कराना है तो 140000 रुपए लगेंगे। हम आपके पुत्र का एडमिशन किसी न किसी तरह से सेटिंग से करवा देंगे। राजपाल के मुताबिक प्रबंधकों ने कहा कि वे पुत्र को कॉलेज ज्वाइन करवा दें। निश्चिंत रहें कि एडमिशन हो जाएगा। इसके बाद मनीष नियमित महाविद्यालय जाने लगा। उसने 3 किश्तों में 140000 रुपए प्रबंधकों को दे दिए। मनीष का लाइब्रेरी में एडमिशन हो गया। महाविद्यालय में क्रमांक संख्या 62 पर उसका नाम दर्ज कर लिया गया। राजपाल के अनुसार
सभी छात्र छात्राओं के प्रवेश पत्र मिल गए, लेकिन मनीष का प्रवेश पत्र नहीं आया। वह पुत्र का प्रवेश पत्र लेने के महाविद्यालय में गया। कॉलेज प्रबंधकों ने तब भी उसे कहा कि आप चिंता मत करो। मनीष को परीक्षा दिलवा देंगे। कुछ दिन बाद मनीष को उन्होंने मनीष से कहा कि उसे प्रवेश पत्र लेने के लिए बीकानेर जाना होगा। इस पर मनीष बीकानेर गया। वहां अनिल धानुका व राकेश गुप्ता मिले, जिन्होंने मनीष को केशवानंद कृषि विश्वविद्यालय के बाहर बैठा दिया। खुद अंदर चले गए। मनीष पूरा दिन इंतजार
करता रहा। इसके बाद शाम को दोनों उसे वापिस सूरतगढ़ ले आये। सूरतगढ़ आने के बाद दोनों कहने लगे कि उसका एडमिशन नहीं हुआ है। यह सुनकर मनीष हैरान
रह गया। राजपाल ने दर्ज करवाये मुकदमे में आरोप लगाया है कि इस तरह इसमहाविद्यालय के प्रबंधकों ने उससे एक लाख 40 हजार रुपये पुत्र का एडमिशन करवाने के नाम पर ले लिये और एडमिशन न करवाकर उसका एक साल खराब कर दिया।जांच कर रहे हवलदार रामावतार ने मंगलवार को बताया कि उन्होंने जांच शुरू कर दी है। अभी पीडि़त पक्ष को ही पहले अपने बयान देने के लिए बुलाया है।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: