सीसीटीवी कैमरों ने पकड़वाया शातिर अपराधी

– वाहन लूट की दो वारदातों का खुलासा, कईं मामले हैं दर्ज
श्रीगंगानगर। सार्वजनिक स्थलों तथा लोगों द्वारा व्यक्तिगत रूप से लगवाये हुए सीसीटीवी कैमरे अपराधियों को पकड़वाने में कितने कारगर साबित हो रहे हैं, इसका उदाहरण मंगलवार को श्रीगंगानगर जिला पुलिस ने पेश किया। जिले में रायसिंहनगर कस्बे में विगत 20 दिसम्बर को एक युवक द्वारा हनुमानगढ़ टाऊन में भद्रकाली मन्दिर में दर्शन करने जाने के लिए किराये पर की गई मारूति स्विफ्ट कार को लूट लिये जाने की वारदात अंजाम दी गई थी। यह युवक पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। पकड़े जाने पर
खुलासा हुआ कि यह युवक बीकानेर जिले में श्रीडूंगरगढ़ थाना इलाके का हिस्ट्रीशीटर है, जो पिछले कुछ समय से श्रीगंगानगर जिले में पदमपुर कस्बे में बाइपास पर बनी एक कॉलोनी में किराये के मकान में रह रहा था। साथ में उसके एक युवती भी रह रही है। रायसिंहनगर पुलिस ने देर शाम बताया कि पकड़ा गया यह युवक 30 वर्षीय राकेश उर्फ मांगीलाल पुत्र बृजलाल ब्राह्मण है। राकेश ने ही विगत 19 दिसम्बर की शाम को रायसिंहनगर में टेक्सी स्टेंड पर आकर नरेन्द्र शर्मा की स्विफ्ट कार को अगले दिन सुबह भद्रकाली मन्दिर पर जाने के लिए किराये पर किया था। अगली सुबह चालक बुधराम इस युवक को लेकर हनुमानगढ़ चला गया। वहां मन्दिर में मत्था टेकने के बाद राकेश उसे श्रीगंगानगर में रिको बाइपास होते हुए सूरतगढ़ रोड पर नेतेवाला-महियांवाली के बीच ले गया। दोपहर लगभग डेढ़ बजे उसने गाड़ृी को साइड में रुकवाया और बुधराम को महज धमकाकर ही गाड़ी छीनकर भाग गया। इस वारदात के बाद पुलिस ने जब जांच शुरू की, तो अनेक स्थानों से सीसी कैमरों के फुटेज जुटाये गये। राकेश जब 19 दिसम्बर की शाम को गाड़ी किराये पर करने टैक्सी स्टेंड पर आया था, तब उसके वहां आने-जाने के रास्तों पर जगह-जगह लगे सीसी कैमरों की फुटेज को चैक किया। यही नहीं, श्रीगंगानगर-सूरतगढ़ रोड नेशनल हाइवे पर टोल प्लाजा पर लगे सीसी कैमरों की फुटेज भी देखी। वारदात के बाद राकेश गाड़ी को हनुमानगढ़ ले गया था। वहां भी एक दुकान पर लगे कैमरे में वह दिखाई दे गया। इस तरह पुलिस को अनेक सीसी कैमरों की फुटेल मिल गयी। इससे ही उसकी पहचान हो गई। हिस्ट्रीशीटर होने के कारण पुलिस को पहचान करने में भी देर नहीं लगी। पुलिस ने बताया कि राकेश पर लगभग 20 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। अब पकड़े जाने पर यह खुलासा हुआ है कि लगभग डेढ़ माह पहले श्रीगंगानगर में उसने पिकअप गाड़ी भी लूटी थी। बताया जा रहा है कि यह पिकअप श्रीगंगानगर में नियुक्त एक एएसआई की ही थी। राकेश से पुलिस अब वाहन लूटने, चोरी करने की अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही ह।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: