भावी पीढ़ी का चरित्र निर्माण करने वाली हो शिक्षा : मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि शिक्षा ऎसी हो जिससे हमारी भावी पीढ़ी का चरित्र निर्माण हो और वे बेहतर नागरिक बन सकें। उन्होंने कहा कि विद्याभारती द्वारा संचालित विद्यालय इसी प्रकार की शिक्षा के माध्यम से समाज को नई दिशा देने का कार्य कर रहे हैं। यह संस्था 12 हजार 364 पूर्ण विद्यालय तथा 12 हजार से अधिक संस्कार केन्द्रों के माध्यम से 34 लाख से अधिक बच्चों को शिक्षा दे रही है। मुख्यमंत्री राजे सोमवार को बांसवाड़ा जिले के कोठारा गांव में विद्या भारती जनजाति समिति राजस्थान के तत्वावधान में विद्या निकेतन माध्यमिक विद्यालय के नवनिर्मित भवन के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रही थीं। राजे ने कहा कि विद्या भारती संस्थान ने जिले के जनजाति क्षेत्र में भी श्रेष्ठ कार्य किया है और बहुत कम समय में देशभर में पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी शैक्षिक विकास के लिए लगातार प्रयास कर रही है। प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे सुधारों की देशभर में सराहना हो रही है। उन्होंने कहा कि बांसवाड़ा में गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय के माध्यम से 40 हजार विद्यार्थियों का नामांकन किया गया है, वहीं डूंगरपुर में मेडिकल कॉलेज स्थापित किया जा रहा है।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: