आदिवासी किसानों को मिलेगा माही और जाखम का पानी : मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि राज्य सरकार प्रदेश के जनजाति क्षेत्रों के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जयसमंद झील को सालभर भरा रखने के लिए माही और जाखम नदियों का पानी लाने की योजना बनाई गई है और इसकी डीपीआर के लिए राज्य सरकार ने राशि जारी कर दी है। उन्होंने कहा कि इससे दक्षिणी राजस्थान के आदिवासी किसानों एवं लोगों को पर्याप्त मात्रा में सिंचाई और पीने का पानी मिल सकेगा। राजे रविवार को उदयपुर जिले के सलूम्बर में विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि जनजाति क्षेत्र के विकास की दिशा में राज्य सरकार कोई कमी नहीं रख रही है। जनता की मांग और स्थानीय जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार ने हरसंभव प्रयास किये हैं और भविष्य में भी करती रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आधारभूत सुविधाओं के विकास के साथ-साथ आमजन को खुशहाल बनाना और राजस्थान को हर क्षेत्र में अग्रणी बनाना ही हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में जनजाति उत्थान एवं क्षेत्रीय विकास के लिए जो काम हुए, वे ऎतिहासिक उपलब्धि हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में मंदिरों के विकास पर 500 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं। इसी के तहत आदिवासियों के प्रमुख आस्था धाम मानगढ़ पर भी विकास कार्य कराए जा रहे हैं।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: