सिटी पैलेस में ‘ट्रेंड्स इन म्यूजियम‘ पर इलेस्ट्रेटेड टाॅक का हुआ आयोजन

जयपुर। सिटी पैलेस की नई गैलरी में आज ’ट्रेंड्स इन म्यूजियमः ए ग्लोबल पर्सपेक्टिव’ पर इलस्ट्रेटेड टाॅक आयोजित की गई। ऑस हेरिटेज के अध्यक्ष और इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ म्यूजियम्स के बोर्ड मेम्बर, श्री विनोद डैनियल इसके मुख्य वक्ता थे। 30 मिनट की इस टाॅक में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालयों से सम्बंधित पहलुओं से जुड़े विषयों को व्यापक रूप से शामिल किया गया। डैनियल ने संग्रहालय नवीनीकरण के लिए आवश्यक तीन पहलुओं की जानकारी देते हुए कहा कि शासन / नेतृत्व, प्रशिक्षित कर्मचारी तथा फंडिंग भारतीय संग्रहालयों के लिए मुख्य फोकस होने चाहिए। संग्रहालयों में कम से कम 5 से 8 वर्ष की अवधि के लिए निदेशक का होना आवष्यक है। कई संग्रहालयों में, 90 फीसदी कर्मचारी अप्रशिक्षित हैं और उन्हें संग्रहालयों के उपकरणों को संभालने का कोई पूर्व अनुभव नहीं है।उन्होंने आगे कहा कि संग्रहालयों को कामयाबी के लिए निरंतर रूप से टिकाउपन पर विषेष ध्यान दिया जाना चाहिए। कलाकृतियों का संग्रह करना ही पर्याप्त नहीं होता है, बल्कि संग्रहालय का उस विशेष स्थान के अतीत से जुड़ाव भी होना चाहिए। दर्षकों को जोड़ने एवं उनकी भागीदारी बढ़ाने हेतु संग्रहालयों द्वारा नवीन और अनूठे तरीके तलाशने की भी आवश्यकता है। निजी हाथों में बड़ी मात्रा में मौजूद राष्ट्रीय संग्रह म्यूजियमों की कुछ प्रमुख चुनौतियों में से है। इस तरह के अनमोल संग्रहों को बचाने के लिए योजनाबद्ध रणनीतियां होनी चाहिए।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: