छैला ने लैला को आगे कर रकीब को रास्ते से हटाया

युवा किसान होशियार सिंह हत्याकांड का खुलासा
– एक ही युवती के थे दो आशिक

श्रीगंगानगर। रायसिंहनगर पुलिस ने युवा किसान होशियार सिंह जट सिख (30) की गुरुवार-शुक्रवार की रात को गोली मारकर की गई हत्या के राज का खुलासा कर दिया है। शनिवार को पुलिस ने इस हत्या के इल्जाम में चक 19 एनपी निवासी भागीरथ बावरी (32) पुत्र सुरजभान को गिरफ्तार कर लिया। भागीरथ के साथ इस हत्या मेें शामिल एक युवती फरार है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। इस युवती को आगे करके भागीरथ ने बड़ी होशियारी से होशियार सिंह को गोली मारकर ठिकाने लगाया था, लेकिन पुलिस के सामने उसकी यह होशियारी धरी रह गई। दरअसल इस युवती के मोहपाश में भागीरथ भी फंसा हुआ था और होशियार सिंह भी। भागीरथ को जब पता चला कि उसके रहते युवती ने किसी ओर के साथ भी सम्बंध बना लिये हैं, तो उसने इसी युवती को आगे कर रात को मिलने के लिए होशियार सिंह को बुलाया। होशियार सिंह वहां पहुंचा तो भागीरथ ने उसे लमछड़ बंदूक से गोली मार दी। विगत गुरुवार-शुक्रवार की लगभग मध्य रात्रि यह हत्या रायसिंहनगर-श्रीबिजयनगर मार्ग पर सतजंडा गांव के नजदीक नहर की पुलिया के पास की गई थी। रायसिंहनगर थानाप्रभारी माजिद खां ने शनिवार देर शाम बताया कि विभिन्न स्रोतों से जुटाई गई जानकारियों, कत्ल के समय होशियार सिंह के साथ मौजूद उसके पड़ोसी कालूराम नायक से की गई पूछताछ तथा मकतूल के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल से मिले सुरागों के आधार पर भागीरथ को आज शाम हिरासत में ले लिया गया। अविवाहित भागीरथ सतजंडा गांव में नहर की पुलिया से कुछ ही दूरी पर एक फार्म हाऊस में फसलों की रखवाली का काम करता है। इसी फार्म हाऊस में ही उसने रहने के लिए झोपड़ी बनाई हुई है। कुछ अरसा पहले उसके एक युवती के साथ प्रेम संब्ंंंंाध हो गये। इस युवती का अपने पति से मनमुटाव चल रहा है, जिसके चलते वह अकेले रहती है। पति से अलग होने के बाद वह भागीरथ के साथ ही रहने लगी। इसी बीच कुछ समय पहले इस युवती के सम्बंध होशियार सिंह से भी हो गये। वह भी उसके यहां आने-जाने लगा या यह दोनों जहां भी मौका मिलता, वहां आपस में मिल लेते थे। थानाधिकारी के अनुसार भागीरथ को कुछ दिन पहले युवती-होशियार सिंह के सम्बंधों का पता चल गया। वह युवती पर यह सम्बंध खत्म करने के लिए दबाव डालने लगा। बताया जाता है कि युवती ने कहा कि वह इस स्थिति में नहीं है कि होशियार सिंह से सम्बंध कर सके। होशियारसिंह ने उस पर सम्बंध बनाये रखने का कोई दबाव बनाया हुआ है। इस पर भागीरथ ने उसे हमेशा के लिए रास्ते से हटा देने का मंसूबा बनाया। उसने गुरुवार को दिन में युवती से होशियार सिंह को फोन करवाया और रात को मिलने के लिए सतजंडा के अड्डे पर आने के लिए कहा। मिलने का वक्त तय हो जाने पर होशियार सिंह गुरुवार रात करीब 11 बजे सतजंडा जाने लगा तो उसने खेत पड़ोसी कालूराम नायक को भी अपने साथ ले लिया। उस समय कालूराम, होशियार सिंह के भाई जगसीर सिंह के साथ ही खेत में पानी लगवा रहा था। कालूराम ने साथ जाने से मना भी किया, लेकिन होशियारसिंह के दो-तीन बाद फोन करने पर वह साथ जाने को तैयार हो गया। थानाधिकारी के अनुसार यह दोनों जब सतजंडा के अड्डे पर पहुंचे, तो वहां युवती दिखाई नहीं दी। यह दोनों कुछ क्षण वहां रुके। फिर आगे नहर की पुलिया की तरफ चले गये। पुलिया के पास युवती बैठी हुई थी। होशियार सिंह उससे बातचीत करने लगा, तभी वहां पहले से छिपा हुआ भागीरथ बाहर निकला और होशियार सिंह पर फायर कर दिया। गोली लगने से वह लहुलुहान होकर गिर गया।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: