हत्यारों ने तीन गोलियां दागीं, 25 किलो चांदी लूटी

घटनास्थल का निरीक्षण करते आईजी व अन्य पुलिस अधिकारी।

- सीआई भूपेन्द्र सोनी के भांजे पंकज के हत्यारों को पकडऩे के लिए आधा दर्जन पुलिस टीमें गठित श्रीगंगानगर। युवा स्वर्णकार और सादुलशहर थानाप्रभारी भूपेन्द्र सोनी के भांजे पंकज सोनी से सोने-चांदी के आभूषण लूटने के लिए मोटरसाइकिल पर सवार तीन अज्ञात लुटेरों ने उस पर तीन गोलियां दागीं। पंकज सोनी के पास बैग में लगभग 25 किलो चांदी के गहने और जेब में कुछ सोने के गहने थे। सोने के गहने व कुछ नकदी बच गई, लेकिन लुटेरे बैग और पंकज के गले में पहनी सेाने की चैन लूटकर फरार हो गये। इन अज्ञात लुटेरों का सुराग लगाने के लिए पुलिस लगातार भागदौड़ कर रही है। पुलिस महानिरीक्षक विपिन पांडे, पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर और डीएसपी (ग्रामीण) दिनेश मीणा, डीएसपी (शहर) तुलसीदास राजपुरोहित और लालगढ़ जाटान थानाप्रभारी गुरमेल सिंह आदि अधिकारियों ने गुरुवार दोपहर बनवाली-चक बादल के बीच उस घटनास्थल का निरीक्षण किया, जहां बुधवार देर शाम को इस वारदात को अंजाम दिया गया था। सिक्सर रिवॉल्वर से दागी गोलियां बुधवार शाम करीब सवा 6 बजे पंकज सोनी सादुलशहर कस्बे में दिनभर अपना कारोबार करने के बाद मोटरसाइकिल पर वापिस श्रीगंगानगर के लिए रवाना हुआ था। लगभग पौने 7 बजे चक बादल-बनवाली के बीच मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवकों ने ओवरटेक कर उसे रोका और बैग छीनते हुए उस पर तीन गोलियां दाग दीं। पंकज की वहीं पर ही मौत हो गई। एक गोली सीने में और एक गोली कनपटी पर लगी। तीसरी गोली पंकज के एक हाथ को छूते हुए मोटरसाइकिल के बैक मिरर पर जा लगी। डीएसपी मीणा ने बताया कि .36 बोर की यह गोलियां हैंड मेड सिक्सर रिवॉल्वर से चलाई गई हैं। जब यह घटना हुई तब बताया गया था कि पंकज सोनी के पास बैग में पांच से सात किलो चांदी या चांदी के गहने थे, लेकिन गुरुवार को उसके पिता साहबराम ने लालगढ़ जाटान थाना में दर्ज करवाई रिपोर्ट में बताया है कि बैग में करीब 25 किलो सोने-चांदी के आभूषण थे, जिसे गोली मारने वाले युवक लूट ले गये। मुकदमा धारा 302, 392 और 34 में दर्ज किया गया है। घटनास्थल पर आज एफएसएल की टीम ने भी अपनी कार्रवाई कर साक्ष्य जुटाने के प्रयास किये। बंद रहे बाजार और प्रतिष्ठान इस घटना के विरोध में स्वर्णकार सभा के आह्वान पर लगभग सभी स्वर्ण व्यवसायियों, ज्वैलरी शोरूम संचालकों और सर्राफा संघ के सदस्य व्यापारियों ने अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। स्वर्णकार सभा के अध्यक्ष रमेश सोनी ने इस घटना की निंदा की। उधर, सादुलशहर कस्बे में भी आज लगभग सभी बाजार बंद रहे। वहां भी स्वर्णकार समाज के लोगों में इस घटना को लेकर ज्यादा आक्रोश था। बता दें कि पंकज सोनी, सादुलशहर थाना के प्रभारी भूपेन्द्र सोनी का भांजा था।

correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi