रंगोली बना दिया पेड़ बचाने का संदेश

खेती को लाभकारी व्यवसाय बनाने के लिए जैविक खाद का उपयोग करें कृषि एवं किसान कल्याण की योजनाओं पर रानीवाडा में जागरूकता कार्यक्रम 23 को पूर्व प्रचार के तहत रानीवाड़ा में अनेक कार्यक्रमों का आयोजन जालोर। पुराने जमाने में खेतो में यूरिया की जगह देशी खाद का उपयोग कर अच्छे किस्म की मुनाफे वाली फसल प्राप्त होती थी वही देशी खाद से फसलों का उत्पादन अधिक व गुणवत्तापूर्णक होता है। ये बात भारत सरकार के क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय की बाड़मेर-जोधपुर इकाई द्वारा रानीवाड़ा के मदागण नाडी ग्राम में आयोजित कृषि एवं किसान कल्याण योजनाओ पर जन चेतना अभियान के पूर्व प्रचार के दौरान को किसान गोष्ठी को सबोधित करते रानीवाड़ा सरपंच रिडमलसिंह ने व्यक्त किये। डीएफपी द्वारा अनेक प्रतियोगिता का हुआ आयोजन कृषि एवं किसान कल्याण योजनाओ के जन चेतना अभियान के पूर्व प्रचार अभियान के दौरान डीएफपी बाड़मेर-जोधपुर द्वारा किसानो एवं महिलाओं की कृषि व पशुपालन विषयक रंगोली व मौखिक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओ का आयोजन किया गया जिसमें महिला कृषकों व छात्रों ने बढ-चढकर भाग लिया। प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागियो को पुरस्कृत किया गया। गीत एवं नाटक प्रभाग भोपाल के पंजीकृत दल राजस्थान लोक कला मण्डल पुष्कर-जानकी गोस्वामी के नेतृत्व मंे सरकारी योजनाओं से संबधित गीत एवं नाटक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। बाल विकास परियोजना अधिकारी भगवती के निर्देशन में कस्तुरबां गांधी आवासीय विद्यालय जालेराकलां में रंगोली प्रतियोगिता का आयेाजन किया गया।

correspondent

barmer

barmer