अरजनसर रेलवे स्टेशन पर इंजन पटरी से उतरा

– सूरतगढ़-लूनकरणसर के बीच लगातार हो रहे हैं हादस
श्रीगंगानगर। सूरतगढ़-बीकानेर रेल सैक्शन पर अरजनसर-लूनकरणसर के बीच रेल हादसे रुकने का नाम नहीं ले रहे। मंगलवार शाम को अरजनसर रेलवे स्टेशन पर शंटिंग कर रहा एक इंजन पटरी से उतर गया। इसकी जानकारी मिलने से सूरतगढ़ तथा बीकानेर में रेल मण्डल कार्यालय के अधिकारियों में हड़कम्प मच गया। जानकारी के अनुसार सायं करीब सवा 6 बजे सेना का साजो-सामान लेकर आई एक रेलगाड़ी का इंजन शंटिंग कर रहा था। स्टेशन के पास ही यह इंजन पटरी से उतर गया। इंजन के छह चक्के पटरी से पूरी तरह से उतर गये। सातवां चक्का आधा नीचे उतर गया। इसकी जानकारी मिलते ही अरजनसर के स्टेशन अधीक्षक व तकनीकी कर्मी तुरंत ही वहां आ गये। चूंकि यह हादसा एक नम्बर पटरी पर नहीं हुआ, इसलिए सूरतगढ़-लूनकरणसर के बीच रेल यातायात पर कोई असर नहीं पड़ा है। इस सैक्शन पर रेलगाडिय़ां सामान्य रूप से आ-जा रही हैं। दूसरी ओर इंजन को वापिस पटरी पर चढ़ाने के लिए रिकवरी क्रेन देर रात मौके पर पहुंच गई थी। रेलवे का तकनीकी स्टाफ काम में जुटा हुआ है। दूसरी ओर बीकानेर रेल मण्डल के वरिष्ठ वाणिज्य मण्डल प्रबंधक सीआर कुमावत के अनुसार इस डीरेलमेंट की जांच करवाई जा रही है। बता दें कि पिछले एक वर्ष में इस सैक्शन पर लगातार ऐसे हादसे हो रहे हैं। कभी सवारी रेलगाड़ी, कभी मालगाड़ी तो कभी इंजन बेपटरी हो रहे हैं। रेलवे सूत्रों का कहना है कि सूरतगढ़-अरजनसर के बीच रेलवे ट्रेक पर ही कोई ऐसी खामी है, जिस पर यह हादसे हो रहे हैं। अभी तीन दिन पहले ही लूनकरणसर रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर रात्रि के समय पटरी के 22 ड्रिप लॉक गायब पाये गये थे। इस लापरवाही को बीकानेर रेल मण्डल के अधिकारियों ने दबाने के भरपूर प्रयास किये, लेकिन अब इसकी उच्च स्तरीय जांच हो रही है।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: