देश के सुरक्षित भविष्य के लिए बच्चों का अच्छा भविष्य बनाना जरूरी: मिश्रा

जोधपुर। सेंट्रल एकेडमी के 40 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर बाल दिवस के अवसर पर सभी शाखाओं मे बाल दिवस का आयोजन किया गया।
संस्था पीआरओ श्रीमती कुमुद गौड़ ने बताया कि प्रथम कड़ी योग प्रदर्शन के सफलतापूर्वक होने के साथ ही दूसरी कड़ी में बाल दिवस का आयोजन किया गया। यह पहला मौका है जब एक साथ सभी शाखाओं में एक साथ बाल दिवस का आयोजन किया गया। इस बाल दिवस में सांस्कृतिक कार्यक्रम खेल-कूद, झूले व फूड जॉन बच्चों के लिए विशेष आकर्षण का केन्द्र रहे। इसका आरंभ सर्वप्रथम मनमोहक नृत्य प्रस्तुति द्वारा किया गया जिसमें शास्त्री नगर के बच्चों ने 40 की संख्या बनाकर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया। इसमें प्री. प्राइमरी के बच्चों ने भी प्रसन्न्चित्त हो कर दादाजी की छड़ी हँू व बम बम भोले पर मनमोहक प्रस्तुति दी। बच्चों के मनोरंजन के लिये सभी शाखाओं में रिंग द ऑबजेक्ट, पिक अप द सेम ऑबजेक्ट, लकी डिप, बांउसी, ब्रस्ट बलून जैसे अनेक खेल रखे गए थे और जीतने की खुशी भी उनके चेहरे पर झलक रही थी।
विद्यालय के चेयरपर्सन श्रीमती पद्मा मिश्रा बच्चों से मिलकर आनंदित हुए इसके साथ ही उन्होंने पं. जवाहर लाल नेहरू के जन्म दिवस के बारे में बताते हुए सभी बच्चों को बाल दिवस की शुभकामनाएँ दी। वहीं संस्था निदेशक अंकित वत्स मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि नेहरु को बच्चो से अगाध प्रेम था उनका मानना था की बच्चे ही देश के भविष्य के निर्माता है यदि अपने देश का भविष्य सुरक्षित रखना है तो इन बच्चो का भविष्य अच्छा बनाना हम सभी भारतीयों का कर्तव्य होना चाहिये उनके बच्चो के प्रति इसी प्रेम के कारण बच्चे उन्हें ‘चाचा नेहरु’कहकर बुलाते थे। संस्था की ऐकडेमिक गवर्नर श्रीमती अरूण उपाध्याय ने बाल दिवस के समापन पर अभिभावकों का आभार जताया।


correspondent

Gulam Mohammad

Gulam Mohammad

%d bloggers like this: