अब ब्लू व्हेल भी बचपन के लिए चुनौती!

बाल विवाह और बाल श्रम के साथ-साथ ब्लू व्हेल गेम को लेकर भी जागरुकता का संदेश, बाल दिवस के मौके पर विधिक सेवा प्राधिकरण एवं स्काउट-गाइड संघ की ओर से निकाली गई रैली
प्रतापगढ़। बाल विवाह, बालश्रम के साथ-साथ अब ब्लू व्हेल गेम भी बचपन को लील रही चुनौतियों में शामिल हो गया है। यही वजह है कि मंगलवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण तथा भारत स्काउट-गाइड की ओर से बाल दिवस के मौके पर निकाली गई रैली के दौरान विद्यार्थियों ने इन सामाजिक बुराइयों के उन्मूलन के साथ-साथ ब्लू व्हेल गेम से भी बचने का संदेश दिया।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला एवं सेशन न्यायााधीश राजेंद्र सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। जागरुकता संदेशों से भरे बैनर व पोस्टर थामे बालक-बालिका शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए किला परिसर स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में पहुंचे। विद्यालय में समारोह का आयोजन कर विद्यार्थियों को जागरुक किया गया। बाल दिवस के मौके पर विधिक जागरूकता दिवस के इस विशेष कैम्पेन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विक्रम सांखला ने विद्यार्थियों को बालश्रम, बालविवाह, दहेज प्रथा से जुड़े कानूनों की जानकारी देते हुए बताया कि वे अपने जीवन में गलत का विरोध करने की आदत डालें ताकि इन बुराइयों को समाज से निकाल कर फेंक सकें। उन्होंने विद्यार्थियों से संवाद करते हुए कहा कि जीवन में केवल परीक्षा पास करने के लिये किसी भी विषय को रटने भर से सफलता नहीं मिल सकती। रटने की आदत से केवल परीक्षा में पास हो सकते हैं किन्तु जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं किया जा सकता। जीवन में निश्चित सफलता प्राप्त करने के लिये हर विषय को समझना जरूरी है।
जिला शिक्षा अधिकारी हेमेंद्र कुमार उपाध्याय ने बालकों को जीवन में सफलता पाने के तीन सूत्रा बताए और कहा कि नियमित विद्यालय में उपस्थिति, घर पर नियमित पढ़ाई और हर विषय पर आपस में चर्चा-परिचर्चा से सारे विषय आसानी से समझे जा सकते हैं। स्काउट सीईओ अनिल गुप्ता ने विद्यार्थियों को ब्लू व्हेल गेम के बारे में जानकारी देते हुए इंटरनेट व कम्प्यूटर के अधिक उपयोग से होने वाले नुकसान बताए। कार्यक्रम संचालक सुरेन्द्र सुमन ने ‘बिटिया रानी है घर की शान…’ कविता सुनाई। प्रिंसिपल विमला शर्मा ने शिक्षा का महत्व बताया। पूर्णकालिक सचिव सांखला ने समस्त उपस्थित विद्यार्थियों को बाल विवाह का विरोध करने तथा ब्लू व्हेल गेम नहीं खेलने की शपथ दिलाई।
रैली में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नकोर, थड़ा, खोरिया ई.एम.आर.एस. टिमरवा एवं सेंट पाॅल उच्च माध्यमिक विद्यालय के स्काउट गाइड के बालक -बालिकाओं ने भाग लिया। इस दौरान जिला प्रशिक्षण आयुक्त पुरूषोतम लाल मोढ़, सचिव आनन्दी लाल ठाकुर, स्काउटर बद्री प्रसाद आमेटा, भुवान सिंह, सुरेन्द्र सुमन, विनोद कुमार मीणा, जनार्दन पाण्डे एवं गाइडर कल्पना शर्मा, सुभिता चैधरी एवं राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय का समस्त स्टाफ उपस्थित था।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: