सेना कैमल सफारी : 283 किमी सफर के बाद अभियान सम्पन्न

– अनूपगढ़ से लगती सीमा पर हुआ समापन
श्रीगंगानगर। जिले में अनूपगढ़ तहसील क्षेत्र में भारत-पाक सीमा पर स्थित चक 4 एमएसआर में भारतीय सेना की 21 मैकनाईज्ड इंफैंट्री की कैमल सफारी का साहसी अभियान का शनिवार को समारोहपूर्वक सम्पन्न हो गया। विगत 19 दिन से विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए यह अभियान दल कल देर रात अनूपगढ़ क्षेत्र में पहुंचा।
283 किलोमीटर का सफर
शनिवार सुबह आयोजित कार्यक्रम में ब्रिगेडियर अजय महाजन के नेतृत्व में कमांडर फ्लक्रम बिग्रेड, डॉट डिवीजन ने फ्लैग इन किया। ब्रिगेडियर अजय महाजन ने बताया कि इस अभियान दल में 2 अधिकारी, 2 सरदार साहिबान तथा 16 अन्य पदाधिकारियों ने भाग लिया। अनूपगढ़ क्षेत्र में आने से पहले इस कैमल अभियान में शामिल भारतीय सेना के जवानों ने अंतर्रराष्ट्रीय सीमा क्षेत्र के रंजीतपुरा, दंतौर, घड़साना तथा अनूपगढ़ तक का 283 किलोमीटर का सफर तय किया।
उद्देश्य
सफारी दल ने सीमावर्ती क्षेत्र के विद्याॢथयों और ग्रामीणों को सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित किया है। रास्ते में आनंदगढ़, सखी शेरपुरा तथा अन्य क्षेत्रों में नि:शुल्क स्वास्थ्य मैडीकल शिविरों का भी आयोजन किया। इस अभियान दल का मुख्य उद्देश्य लोगों में राष्ट्र प्रेम तथा साहस की भावना जगाना रहा। कार्यक्रम में ग्राम पंचायत सरपंच रतनलाल, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका मंजू चौधरी, तुलसीदास मीणा, सुमित्रा देवरथ, सुरेंद्र कुमार, प्रवीण कुमार, राकेश कुमार तथा विद्यालय के बच्चे उपस्थित थे।
कैमल सवारी का स्वागत
चक 4 एमएसआर के मैदान में आयोजित इस कार्यक्रम में ऊंटों की सवारी पहुंचने पर सेना के अधिकारियों, जवानों तथा स्थानीय लोगों ने ढोल नगाड़े बजाते हुए स्वागत किया। ब्रिगेडियर ने आर्मी ध्वज दिखा कर कैमल सवारी को समापन स्थल पर प्रवेश करवाया। बच्चों, विद्यालय स्टॉफ तथा अन्य लोगों ने ऊंटों पर चढ़ कर सवारी करके लुत्फ उठाया।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: