‘पद्मावती’ फिल्म विवाद : बूंदी के राजमहल से निकली उम्मीद की किरण

—  फिल्म पर बूंदी महारानी का सुझाव बेहतर ! मान सकता है समुदाय ! जयपुर । एक बार फिर राजपूतों समुदाय के विवाद को सुलझाने राजघराने से समझौते की उम्मीद की किरण बूंदी के राजमहल से निकली है । राजस्थान के बूंदी घराने की महारानी मयूरीसिंह ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती के रिलीज से पहले विरोध नहीं करने की बात कही है । उन्होंने कहा कि फिल्म के रिलीज का विरोध नहीं होना चाहिए । उनका मानना है कि पहले फिल्म को रिलीज होने दिया जाये और उसके बाद इसकी समीक्षा होनी चाहिए । मयूरीसिंह ने कहा कि फिल्म के रिलीज के बाद अगर राजपूत समुदाय के लोगों को लगे कि फिल्म में समुदाय की सभ्यता और संस्कृति के विरुद्ध कुछ दिखाया गया है, तो उसका विरोध होना चाहिए। मयूरीसिंह के विचारों का समर्थन करते हुए चर्चित गीतकार जावेद अख्तर और फिल्मकार करण जौहर ने भी संजय लीला भंसाली की फिल्म का समर्थन किया है । मालूम हो विभिन्न समूहों ने भंसाली पर फिल्म में ऐतहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है । विरोध करनेवालों में ज्यादातर राजपूत समुदाय के हैं।

Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in