‘मां तुझे सलाम’ : क्यों और कैसे ? पढें ऐसे

— क्यों कि वह रचनाकार है । रचना करती है । सृजन करती है । दुनिया का सबसे बड़ा सृजन । इंसान का जन्म मां करती है । इसलिए ‘मां तुझे सलाम’ ।
जैसलमेर । जिला मुख्यालय पर स्थित जिले का एकमात्र बड़ा सरकारी अस्पताल जवाहर चिकित्सालय के प्रसूति वार्ड में, जहां इंसान का जन्म होता है, इंसानियत गायब हो गयी तो जिले के कुछ संवेदनशील नवयुवकों ने आवाज उठाई लेकिन नहीं सुनी गई । तो उन्होंने इसे विधिवत सुधारने के लिए एक संस्था को जन्म दिया जिसका नाम रखा ‘मां तुझे सलाम ।’

विगत लंबे समय से एक सामाजिक संस्था ‘मां तुझे सलाम’ ने जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों के लिए कुछ आवश्यक उपकरण आदि के साथ शारीरिक, मानसिक और आर्थिक सहायता की है । विशेषकर प्रसूति वार्ड में लेकिन जिला अस्पताल में उनका रखरखाव ही उचित ढंग से नहीं किया गया जिससे वे डेमेज हो रहे हैं और मरीजों का लाभ नहीं मिल रहा है । सरकार की ओर से सुविधाएं और विकास तो दूर की बात हो गई है ।

इन दिनों चिकित्सों की हड़ताल के चलते बीएसएफ चिकित्सकों द्वारा दी जा रही चिकित्सकीय सेवा में अपना सहयोग देने के लिए संस्था ‘मां तुझे सलाम’ आगे आई है ।


correspondent

anand m vasu

anand m vasu

%d bloggers like this: