सुहाना मंजर: बदल रही तस्वीर

— लोक जीवन में हरियाली का अहसास करा रहा जन अभियान
— ग्रामीणों ने पाया सुकून, मजबूत हुई ग्राम्य विकास की बुनियाद
राजसमन्द । राजस्थान के सभी क्षेत्रों की ही तरह प्रदेश के राजसमन्द जिले में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान ने उपलब्धियों का परचम लहराते हुए ग्रामीणों को जीवननिर्वाह का वह सुकून दे दिया है जिसके लिए वे लम्बे समय से प्रतीक्षा करते आ रहे थे ।
एमजेएसए का महाभियान
मरुभूमि राजस्थान की परंपरागत जल समस्या के खात्मे के उद्देश्य से मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की पहल पर संचालित मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान (एमजेएसए) प्रदेश की तस्वीर बदलने वाला महाभियान सिद्ध हो रहा है। जनता ने जिस आत्मीयता के साथ इसे स्वीकारा और जल के महत्व को जानकर समर्पित भागीदारी अदा की है, उसने इसे बहुत बड़ा और ऎतिहासिक जन अभियान सिद्ध कर दिखाया है।
हरियाली का सुकूनदायी मंजर
एमजेएसए ने मनुष्यों से लेकर मवेशियों और पक्षियों तक के लिए पेयजल की सुविधाओं का विस्तार किया है वहीं प्यासे खेतों में सिंचाई के लिए जल की उपलब्धता की वजह से आँखों से लेकर तन-मन को ताजगी का अहसास कराने वाला हरियाली का सुकूनदायी मंजर दिखने लगा है। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में ग्रामीणों की अर्से से चली आ रही कई समस्याओं का समाधान इस अभियान ने दो-तीन वर्ष में ही कर डाला है ।
जनता का अपना अभियान बना
अभियान की लोक कल्याणकारी एवं आंचलिक विकास को सम्बल देने वाली गतिविधियों के प्रति आम जन का रुझान और हर तरह की जन भागीदारी का ही परिणाम है कि आज यह अभियान राजस्थान की जनता का अपना अभियान बन चला है।

 


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: