जस्टिस गर्ग के दिल में बसता है श्रीगंगानगर बार

– बार एसोसिएशन ने किया अभिनंदन
श्रीगंगानगर । पदमपुर मार्ग पर स्थित विंडसर पॉम रिजोर्ट्स में शनिवार को श्रीगंगानगर बार एसोसिएशन द्वारा अपने सम्मान में आयोजित अभिनंदन एवं रात्रिभोज समारोह में सम्बोधित करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट, जोधपुर के जस्टिस मनोज गर्ग ने कहा है कि श्रीगंगानगर बार संघ उनके दिल में बसता है। यही वो बार संघ तथा इससे जुड़े अधिवक्ता हैं, जिनसे उन्होंने कानून की दुनिया में अंगुली पकडक़र चलना सीखा है।
कुछ ही अर्सा पहले अधिवक्ता कोटे से जस्टिस नियुक्त हुए मनोज गर्ग, श्रीगंगानगर जिले के श्रीकरणपुर कस्बे के मूल निवासी हैं। जोधपुर में 1996 में अपने पिता स्व. मुन्नीलाल गर्ग के सानिध्य में वकालत की शुरुआत करने वाले मनोज गर्ग ने कहा कि अगर उनका हृदय खोलकर देखा जाये तो इसमें श्रीगंगानगर के एक-एक अधिवक्ता का नाम लिखा होगा। जस्टिस गर्ग ने कहा कि श्रीगंगानगर बार संघ का इतिहास बेहद गौरवांवित करने वाला रहा है। इस बार संघ ने ही स्व. गणपतराम वर्मा और स. करनैलसिंह जैसे जाने-माने अधिवक्ताओं को दिया है, जो पूरे देश में सुविख्यात रहे। उन्होंने इस बार संघ के अधिवक्ताओं से बहुत कुछ सीखा व समझा है, जो अब उनके इस पद पर नियुक्त होने पर बहुत काम आ रहा है।
श्रीगंगानगर में पुरानी शुगर मिल वाली जगह पर प्रस्तावित नये कोर्ट कॉम्पलैक्स का जिक्र करते हुए जस्टिस गर्ग ने कहा कि उनकी पूरी कौशिश रहेगी कि इसका जल्द से जल्द निर्माण हो, ताकि यहां के वकीलों और न्यायिक अधिकारियों को अपना कामकाज सुगमता से करने का मौका मिले। आगामी जनवरी माह में नये कोर्ट कॉम्पलैक्स का शिलान्यास के प्रयास किए जा रहे हैं । अपने अभिनंदन में आयोजित भव्य और शानदार समारोह में अभिभूत होते हुए मनोज गर्ग ने कहा कि उन्हें महसूस हो रहा है कि आज वे अपने घर में ही अपने ही संगी-साथियों के साथ हैं। उन्होंने वकालत के दिनों में श्रीगंगानगर बार संघ और इसके सदस्य वकीलों से मिले सहयोग के लिए बड़ा आभार व्यक्त किया। आगे भी सहयोग बनाये रखने की अपेक्षा जताई।
राजस्थान बार कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट नवरंग चौधरी, बार संघ के पूर्व अध्यक्ष स. दरबारा सिंह बराड़, ओम रावल, चरणदास कम्बोज तथा एडवोकेट कुलवंत सिंह संधु आदि अधिवक्ताओं ने सम्बोधित करते हुए मनोज गर्ग के साथ वकालत के दिनों के अपने संस्मरणों और अनुभवों को सांझा किया। उन्होंने कहा कि यह हम सबके लिए बड़ी खुशी की बात है कि उन्हीं के ही एक साथी मनोज गर्ग जस्टिस के पद पर विराजित हुए हैं।
इस मौके पर श्रीगंगानगर के ही मूल निवासी इन्द्रजीत वर्मा के भी जस्टिस नियुक्त होने का जिक्र किया गया। पूर्व में श्रीगंगानगर के ही अधिवक्ताओं बलवंत अरोड़ा के भी हाईकोर्ट में जस्टिस बनने का भी स्मरण किया गया। समारोह में जिला सैशन न्यायाधीश देवेन्द्र जोशी, अपर जिला सैशन जज सुनील रणवा, महेश पुनेठा, रिटायर्ड जिला सैशन जज नरेश चुघ व राजेश्वर सिंह सहित बड़ी संख्या में न्यायिक अधिकारी, उनके परिवार के सदस्य, श्रीगंगानगर बार संघ और जिले के दूसरे शहरों – कस्बों के बार संघों के अध्यक्ष, अन्य पदाधिकारी व सदस्य आदि शामिल हुए।
जस्टिस गर्ग सपत्निक व बच्चों के साथ इस कार्यक्रम में पहुंचे। उनका गर्मजोशी से तथा माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। जस्टिस गर्ग, उनकी पत्नी को स्मृति चिन्ह भेंट किये गये। इस मौके पर टॉइनी टॉट्स स्कूल तथा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय खरलां के विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। एडवोकेट ओम रावल ने जस्टिस गर्ग का जीवन परिचय दिया। श्रीगंगानगर बार संघ के अध्यक्ष अजय मेहता ने आभार व्यक्त किया। मंच संचालन एडवोकेट दिनेश छाबड़ा ने किया।


correspondent

anand m vasu

anand m vasu

%d bloggers like this: