अवैध घुसपैठ : राजस्थान से नहीं बल्कि पंजाब के अटारी से !

— आरोपों से घिरी बीएसएफ का जांच के बाद खुलासा : घुसपैठिया तारबंदी पारकर नहीं बल्कि अटारी बॉर्डर से फर्जी पासपोर्ट के जरिये आया
जोधपुर। हसन मामले में सीमा सुरक्षा बल राजस्थान फ्रंटीयर के आईजी ने खुलासा किया है कि सियालों की बस्ती के मूल निवासी हासम खां के वर्षो पूर्व अवैध तरीके से पाकिस्तान जाने के बाद उसकी वापसी भी अवैध तरीके से हुई है जो कि राजस्थान की सीमा पर तारबंदी पारकर नहीं हुई है बल्कि पंजाब प्रांत की अटारी सीमा पर फर्जी पासपोर्ट के जरिए हुई है। गौरतलब रहे कि आरोपी जैसलमेर के शाहगढ़ क्षेत्र का रहने वाला है। 27 साल पहले वर्ष 1990 में आरोपी हासम खां बॉर्डर क्रॉस कर पाकिस्तान चला गया था। इतने साल तक वहीं रहा और अप्रैल 2017 में फिर से लौट आया। इस दौरान उसे सीआईडी बीआई ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के समय जांच एजेंसी ने दावा किया था कि आरोपी हासम खां तारबंदी पार कर भारत में घुसा था।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: