टीबी मरीजों का डाटा : मेडिकल स्टोर्स पर शिड्यूल एच-1 में रखना होगा

जयपुर । केन्द्र सरकार ने 2025 तक टीबी उन्मूलन का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके लिए टीबी मरीजों का आंकलन किया जा रहा है  । लेकिन निजी अस्पताल में टीबी मरीजों का डाटा नहीं मिलने से टीबी के मरीजों की वास्तविक स्थिति का आंकलन नहीं हो रहा है । मॉनिटरिंग के लिए राज्य सरकार ने दवा विक्रेताओं को टीबी मरीजों का आंकड़ा रखने के लिए पाबन्द किया है । मेडिकल स्टोर्स को अब शिड्यूल-एच-1 के तहत टीबी मरीजों का रिकाॅर्ड रखना होगा । मॉनिटरिंग के लिए अलग से रजिस्टर में नाम, पता मोबाइल नंबर का रिकार्ड रखना अनिवार्य कर दिया है । इतना ही नहीं औषधि विभाग को हर माह सूचना भी भेजनी पड़ेगी। इसमें निजी अस्पताल भी शाामिल है। देश में 28 लाख लोग टीबी से प्रभावित हैं। रोजाना 1400 लोगों की मौत टीबी से होती है। पूरी दुनिया में जितने मरीज हैं, उसका 25 फीसदी केवल भारत में है। उल्लेखनीय है कि शिड्यूल एच-1 की श्रेणी में 46 दवाओं में से 11 एंटीटीबी की ड्रग्स शामिल है।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: