स्वर्णनगरी में ईमानदारी की ताजा मिसाल, इकबाल ने लौटाया विदेशी पर्यटक का पर्स

— पर्स में 18000 रुपये भारतीय मुद्राएं एवं उसके कई डेबिट क्रेडिट कार्ड के साथ विदेशी मुद्रा भी थी जैसलमेर । ईमानदारी अभी कायम है । ईमानदारी की जाता मिसाल विश्वविख्यात स्वर्णनगरी में देखने को मिली है । जैसलमेर जिले के इकबाल नामक शख्स ने ईमानदारी का परिचय देते हुए, उसको मिला एक पर्यटक का पर्स सुरक्षित लौटाया । अकरम का कृत्य न केवल स्वर्णनगरी अपितु जैसलमेर सहित पूरे भारतवर्ष का मान बढाया है । यह पर्स कोलंबिया निवास फिलिप का है जो भारत भ्रमण पर जैसलमेर आया हुआ है । इस पर्स में विदेशी मुद्रा के साथ 18 हजार रूपये की भारतीय मुद्रा और महत्वपूर्ण कागजात थे । पर्स पाकर पर्यटक फिलिप प्रसन्न हुआ और सबका धन्यवाद किया । यह रही घटना की डिटेल घटना के अनुसार कोलंबिया निवासी फिलिप स्वर्णनगरी जैसलमेर घूमने आया और जब वह जैसलमेर संस्कृति को देखने ग्रामीण अंचलों में जा रहा था तो कुलधरा के पास उसका पर्स कहीं गिर गया जिसमें करीब 18000 रुपये भारतीय मुद्राएं एवं उसके कई डेबिट क्रेडिट कार्ड के साथ विदेशी मुद्रा भी थी । इसी दौरान वहां से इकबाल नामक शख्स अपने गांव से काम पर आ रहा था उसको यह पर्स को रोड पर मिला। उसने अपना ईमान न डगमगाते हुए इस पर्यटक को ढूंढने की ठानी और जैसलमेर के स्थानीय पर्यटक व्यवसायी आलोक आचार्य, भवानीसिंह, सहारा ट्रेवल के अनिकेत बिस्सा व अन्य व्यक्तियों की मदद से फिलिप को ढूंढ पर्स को लौटाया । फिलिप ने तारीफ और दिया धन्यवाद पर्स मिलने पर कोलम्बिया निवासी फिलिप ने इकबाल के साथ सभी व्यक्तियों को धन्यवाद दिया और कहा इक़बाल ने जो ईमानदारी की मिशाल पेश की है वो वाकई में काबिले तारीफ है । इस अवसर पर पर्यटन सुरक्षा बल के गोपाल खत्री, भीमसिंह सहित कई पर्यटन व्यवसाई उपस्थित रहे ।

correspondent

anand m vasu

anand m vasu