सर्वभाषा रचना पाठ एवं साहित्यकार सम्मान समारोह आयोजित

-भारत भर से आये 50 से अधिक साहित्यकारों का किया स्वागत - कवियों ने अलग-अलग भाषाओं में किया कविता पाठ -1 अक्टूबर को जयपुर में प्रारम्भ हुआ था सम्मेलन उदयपुर। 14वें अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन के तहत मंगलवार को राजस्थान साहित्य अकादमी के एकात्म सभागार में सर्वभाषा रचना पाठ एवं साहित्यकारों का सम्मान समारोह आयोजित हुआ। वरिष्ठ साहित्यकार जयप्रकाश मानद के नेतृत्व में विभिन्न देशों एवं भारत भर से आये 50 से अधिक साहित्यकारों का युगधारा संस्था की ओर से भावभीना स्वागत किया गया। इसके पश्चात राजस्थानी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर कथक आश्रम की छात्राओं ने मेहमान साहित्यकारों को राजस्थानी संस्कृति से रुबरु कराया। अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में सम्मिलित कवियों ने अलग-अलग भाषाओं में कविता पाठ किया। स्थानीय कवियों ने भी अपनी रचनाओं का पाठ कर आयोजन को गरिमामय बनाया। इस अवसर पर अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन सृजन गाथा डॉट कॉम की ओर से उदयपुर के विभिन्न विधाओं के साहित्यकारों का सम्मान किया गया। युगधारा की ओर से उपरना ओढ़ा कर सम्मेलन में सम्मिलित सभी आगन्तुक साहित्यकारों का स्वागत किया गया। युगधारा के संस्थापक ज्योति पुंज ने स्वागत भाषण दिया। सम्मेलन की राज्य संयोजक किरण बाला जीनगर ने बताया कि 1 अक्टूबर को जयपुर में प्रारम्भ हुए इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन का समापन बुधवार को होगा।

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in