माँ जगदम्बा : प्रतिमा का विसर्जन

— प्रतिमा विसर्जन के अवसर पर समृद्धि, खुशहाली व सुखद भविष्य की कामना सिरोही। शहर के रामझरोखा मैदान में आयोजित नवरात्रि महोत्सव के अवसर पर जगदंबे नवयुवक मंडल सिरोही द्वारा स्थापित की गई माता जगदंबा की आदमकद प्रतिमा का ढोल ढमाकों व गगनभेदी जयकारों के बीच विधि विधानपूर्वक कालका तालाब के जल में विसर्जन किया गया। विधि विधान से विसर्जन मंडल के संरक्षक लोकेश खंडेलवाल के अनुसार शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए नवरात्र में विराजमान की गई माता की प्रतिमा को लेकर श्रद्धालु एवं मंडल के कार्यकर्ता हर्षोल्लासपूर्वक ढोल पर नाचते झूमते कालका तालाब पहुंचे वहां पंडितों ने विधि विधान से पूजा अर्चना कर विसर्जन की विधि संपन्न कराई। इको फ्रेंडली मूर्ति उल्लेखनीय है कि मंडल द्वारा प्रतिवर्ष तालाब की पवित्र माटी से ही माता की प्रतिमा का बंगाली कुशल कारीगरों द्वारा निर्माण कराया जाता है। प्रतिमा के निर्माण में किसी भी प्रकार के केमिकल कलर या पीओपी का इस्तेमाल नहीं कर के इको फ्रेंडली तरीके से मूर्ति बनाई जाती है। प्रतिमा विसर्जन के अवसर पर क्षेत्र के लोगों की समृद्धि खुशहाली व सुखद भविष्य की माता से कामना की गई। इस अवसर पर मंडल के सुरेश सगरवंशी, गिरीश सगरवंशी, गांधी भाई पटेल,रणछोड़ पुरोहित, अध्यक्ष राजेश गुलाबवाणि, भूपत देसाई, महासचिव विजय पटेल, कोषाध्यक्ष प्रकाश खारवाल, प्रकाश प्रजापति, अतुल रावल, दिलीप पटेल, महेश पटेल, महेंद्र सूर्यवंशी, हरीश खत्री, दिनेश प्रजापत, तगसिंह राजपुरोहित, अश्विन भाई सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

correspondent

anand m vasu

anand m vasu