श्रीगंगानगर स्माल क्राइम न्यूज

बीएसएफ कमांडेंट की पत्नी का पर्स छीना
श्रीगंगानगर जिले के सीमावर्ती अनूपगढ़ कस्बे में झपटमारी की वारदात होने के बाद गुरुवार की शाम को साथ लगते नई मण्डी घड़साना कस्बे में भी ऐसी ही घटना हो गई। बीएसएफ की 16वीं बटालियन के सतराना स्थित मुख्यालय में कमांडेंट उदयप्रताप सिंह चौहान की पत्नी पल्लवी चौहान शाम को खरीददारी करने के लिए नई मण्डी घड़साना गई थी। शाम करीब 5.30 बजे वह बस अड्डे के पास खरीददारी कर रही थी। प्रत्यक्षदर्शी-मीडियाकर्मी विकास पारीक ने बताया कि खरीददारी करने के बाद पल्लवी चौहान उसे लेने के लिए आई हुई बीएसएफ की गाड़ी में बैठने जा रही थी। तभी एकाएक मोटरसाइकिल पर दो युवक आये। उसके हाथ से पर्स छीनकर फरार हो गये। विकास पारीक ने बताया कि उसने व अन्य लोगों ने बाइकर्स का पीछा किया, लेकिन वे बस अड्डे से निकलकर कौनसी गली से होकर भाग गये, यह पता ही नहीं चला। इस घटना से आसपास अफरा-तफरी मच गई। मौके पर तुरंत पुलिस पहुंच गई। पल्लवी चौहान ने पुलिस को बताया कि पर्स में सोने का एक मंगलसूत्र, साढ़े 8 हजार रुपये, पैन कार्ड, एटीएम कार्ड और आधार कार्ड आदि सामान था। देर रात तक पुलिस भागदौडृ करती रही। बाइकर्स का पता नहीं चला। बता दें कि कल शाम को अनूपगढ़ की सर्राफा मार्केट में एक अध्यापक चिमनलाल नागपाल की पत्नी का भी मोटरसाइकिल सवार दो युवक पर्स छीनकर भाग गये थे। इस सम्बंध में आज मुकदमा दर्ज किया गया।
युवती से दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार
महिला थाना पुलिस ने पुरानी आबादी की एक युवती के साथ दुष्कर्म करने के आरोपित युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किये गये अमरप्रीत पुत्र रामप्रीतदास को कल कोर्ट में पेश किया जायेगा। दुष्कर्म की यह घटना 1 महीने पहले सुखाडिय़ानगर मार्ग पर एक मोबाइल फोन शॉप के चौबारे में हुई थी। आरोप है कि अमरप्रीत और उसके दो-तीन साथी मोहल्ले की एक युवती को बहाने से इस चौबारे में लेकर आये थे। उसके साथ जोर-जबरदस्ती की। कथित रूप से उसकी वीडियो क्लिप बना ली। इसके तीन-चार दिन बाद यह युवक फिर से इस युवती को सुखाडिय़ा सर्किल पर ले आये। इससे पहले कि वे युवती को चौबारे में लेकर जाते, वहां कुछ युवकों को शक हो गया। युवती वहां से भागकर सर्किल पर फूल बेचने वालों के पास आ गई। बदहवास हालत में इस युवती को तब परिवारजनों के सुपुर्द किया गया था। इसके बाद युवती ने खुलासा किया कि उसके साथ तीन दिन पहले दुष्कर्म किया गया था। विगत 1 सितम्बर को यह मामला महिला थाना मेें दर्ज हुआ। बाकी मुल्जिमों के बारे में पुलिस अभी जांच-पड़ताल कर रही है।
श्रीगंगानगर-बीकानेर हाइवे पर वर्दी वाले गुंडे
श्रीगंगानगर-बीकानेर नेशनल हाइवे पर रात को वर्दी वाले गुंडों ने आतंक मचा रखा है। इस हाइवे पर लूनकरणसर थाना इलाके में लगातार दो रातों को वर्दी वाले गुंडों ने ही लूट-खसोट मचा रखी है। थानाप्रभारी ने लगातार दो रातों को हुई घटनाओं के प्रति अनभिज्ञता जताई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक बीती रात करीब 1.30 बजे लूनकरणसर में हाइवे पर पुलिस थाने से कुछ ही दूरी पर वर्दी पहने हुए सात-आठ जनों ने कथित रूप से नाका लगा रखा था। यह वर्दी वाले हर आने-जाने वाले वाहन को रोककर चौथवसूली कर रहे थे। इस दौरान बीकानेर की ओर जा रहे एक ट्रक को उन्होंने रुकने का इशारा किया, लेकिन चालक उस ट्रक को भगा ले गया। चालक को शक हुआ कि यह वर्दी की आड़ में लूटपाट करने वाले हो सकते हैं। करीब लगभग तीन किमी पीछा कर इन वर्दी वालों ने ट्रक को रुकवा लिया। फिर ट्रक के चालक और उसके साथी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। यही नहीं, उन्हें तड़के पीबीएम अस्पताल में ले जाकर भर्ती करवा दिया। बाद में पता चला कि यह कोई और नहीं, बल्कि पुलिस वाले ही थे।
नाली के पास मिला नवजात शिशु
हनुमानगढ़ जिले में संगरिया थाना क्षेत्र के गांव नगराना में आज सुबह नाली के पास एक नवजात शिशु जीवित पड़ा मिला। यह देखकर लोग हैरान रह गये। कुछ ही देर मेें यह खबर नगराना ही नहीं, बल्कि आसपास के गांवों में भी फैल गई। शिशु को गांव वाले तुरंत ही संगरिया के सरकारी अस्पताल में ले गये, जहां डॉक्टरों ने उसका चैकअप किया। यह शिशु पूरी तरह से स्वस्थ है। इस सम्बंध मेें पुलिस ने अज्ञात महिला पर पैदाइश को छिपाने और बच्चे को मारने की नियत से लावारिस फेंक देने का मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार सुबह करीब 6 बजे नगराना में पालाराम कुम्हार का परिवार सोकर उठा, तो उन्हें किसी शिशु के रोने की आवाज सुनाई दी। बाहर आकर देखा तो घर के नजदीक नाली के पास ही रुईं-कपड़े में लिपटा नवजात शिशु रो रहा था। शिशु के शरीर पर खून लगा हुआ था। इस शिशु को रात्रि के समय कोई नाली के पास छोड़कर चला गया। पालाराम के परिवार ने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। कुछ ही देर में वहां भीड़ लग गई। इस बीच थाने में सूचना दे दी। साथ ही गांव वाले इस शिशु को संगरिया के अस्पताल मेें ले गये। पुलिस ने बताया कि इस शिशु का जन्म लगता है कुछ ही घंटे पहले हुआ था। किसी मजबूरी के चलते इस शिशु को उसकी मां ने इस तरह लावारिस फिंकवाया होगा। शिशु लड़का है। अस्पताल में उसकी पूरी देखभाल की जा रही है। अस्पताल में भी इस शिशु को देखने आने वालों का तांता लगा हुआ है। पुलिस ने धारा 317 के तहत अज्ञात महिला पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस शिशु के मिलने की जानकारी जिला बाल संरक्षण समिति के
अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों को दी गई है। शिशु की देखभाल की जिम्मेवारी अब यह बाल संरक्षण समिति कर रही है। उधर, पुलिस पता लगाने में जुट गई है कि कल बुधवार से इस क्षेत्र मेें किसी के यहां कोई डिलीवरी तो नहीं हुई। इस बीच ग्रामीणों का कहना है कि इन दिनों गांव मेें नरमा-कपास की चुगाई की मजदूरी करने के लिए दूसरे इलाकों से काफी लोग आये हुए हैं। इस बात को भी पुलिस ध्यान में रखे हुए हैं।
चुनावी रंजिश में उपसरपंच से मारपीट
पंचायत चुनाव की रंजिश के चलते उपसरपंच के साथ कुछ लोगों ने मारपीट करते हुए उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। उपसरपंच अस्पताल में उपचाराधीन है। पुलिस ने उसके बयान के आधार पर मामला दर्ज किया है। घटना गोलूवाला थाना क्षेत्र में चक 35 एमओडी के पास 26 सितम्बर की सुबह हुई। पुलिस के अनुसार ग्राम पंचायत गुरुसर मोडिया के उपसरपंच आत्माराम पुत्र महावीर जाट निवासी चक 1 डीबीएन ने अस्पताल में बयान दिये कि वह सुबह पंचायत के काम से सूरतगढ़ जा रहा था। चक 35 एमओडी के पास प्रदीप सहारण मोटरसाइकिल पर आया। प्रदीप ने उसे वहां रोक लिया।
इतने में वहां आये प्रेम पूनिया, लालचंद पूनिया, गजानंद, गोपीराम, राकेश तथा दो-तीन अन्य जनों ने लाठी, गंडासी व अन्य हथियारेां से उस पर हमला कर दिया। मारपीट व हमले में वह घायल हो गया। इसी बीच वहां दो-तीन लड़के आ गये, जिन्होंने उसे बचाया और अस्पताल में भिजवाया। पुलिस ने बताया कि यह हमला पंचायत चुनाव की रंजिश के चलते किया गया। आरोपित फरार है। उन पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
होटल में घुसकर पिता-पुत्र से मारपीट
जैतसर कस्बे में बुधवार की रात को चार-पांच जनों ने एक होटल में घुसकर होटल के संचालक और उसके पुत्र के साथ मारपीट कर दी। इस आशय का एक मामला गुरुवार को पुलिस ने दर्ज किया। पुलिस के अनुसार जैतसर कस्बे में होटल चलाने वाले मुकेश पुत्र मूलचंद सिंधी ने आज सुबह थाने में रिपोर्ट देते हुए बताया कि कल रात को अमित, अनिल तथा इनके साथ आये चार-पांच जनों ने उससे व उसके पिता से मारपीट की। पुलिस ने बताया कि मारपीट के कारणों की जांच-पड़ताल की जा रही है।
अभ्यास करते सैनिक इन्दिरा नहर में डूबा
इन्दिरा गांधी नहर में एक सैनिक डूब गया। यह हादसा दोपहर करीब 11 बजे राजियासर थाना क्षेत्र में इन्दिरा गांधी नहर की बुर्जी संख्या 220-222 के बीच हुआ। थानाधिकारी गणेश कुमार बिश्रोई ने बताया कि दोपहर को इस नहर पर सैनिकों की एक टुकड़ी अपना अभ्यास कर रही थी। अभ्यास का एक हिस्सा नहर में तैरना भी था। टुकड़ी जब यह अभ्यास कर रही थी, इस दौरान एक सैनिक महेन्द्रपाल सिंह इन्दिरा नहर के मध्य में था। अचानक ही वह पानी के तेज बहाव के कारण डूबने लगा। दोनों किनारों पर मौजूद अन्य सैनिकों ने उसे डूबते हुए देख लिया। इन सैनिकों ने उसे बचाने के बहुत प्रयास किये, लेकिन पानी का बहाव बहुत तेज होने के कारण वह बचाव नहीं पाये। महेन्द्र पाल वहीं डूब गया। इसकी जानकारी मिलते ही बिरधवाल चौकी से पुलिसकर्मी पहुंच गये। पुलिस ने नजदीक गांव से कुशल तैराकों को बुलाया। इसी बीच सेना के अधिकारी वहां आ गये। उन्होंने भी कुशल तैराक-गौताखोर सैनिकों की व्यवस्था की। सब मिल-जुलकर महेन्द्रपाल को तलाश करने लगे। नहर में लोहे के जाल भी मजबूत रस्सों से बांधकर घुमाये जा रहे हैं। देर शाम को अंधेरा होने के कारण खोज का काम रोक दिया गया। नहर में डूबा यह सैनिक पठानकोट क्षेत्र का निवासी बताया जाता है, जो सेना की 114 आम्र्ड रेजिमेंट कोर में था।
मासूम बहन-भाई की डिग्गी में डूबने से मौत
बीकानेर जिले में गजनेर थाना क्षेत्र में गुरुवार दोपहर को एक फार्म हाऊस में बनी पानी की डिग्गी में डूब जाने से मासूम बहन-भाई की दर्दनाक मौत हो गई। गजनेर थाना के हवलदार सम्पत सिंह ने बताया कि थाना क्षेत्र मेें टेचरी फांटा से लगभग आधा किमी पहले भ_ाजी बेगाणी का फार्म हाऊस है। बछराज सिंह के इस फार्म हाऊस में कामकाज तथा फसलों की रखवाली के लिए मूल रूप से बिहार का निवासी मंटू अपने परिवार के साथ ही रहता है। मंटू के चार संतानें हैं। आज दोपहर मंटू और उसकी पत्नी फार्म हाऊस में काम कर रहे थे। उसका छह वर्षीय पुत्र पवन तथा 9 वर्षीय पुत्री नेहा फार्म हाऊस परिसर में ही डिग्गी पर नहाने अथवा पानी लेने के लिए चले गये। यह दोनों डिग्गी मेें कैसे गिर गये, इसका पता नहीं चला। जब यह दोनों काफी देर तक नहीं आये, तब मंटू की बड़ी पुत्री हेमा इनको देखने के लिए फार्म हाऊस में गई। वहां बनी डिग्गी में इन दोनों को तैरते हुए देखा, तो वह चौक उठी। हेमा जोर-जोर से चिल्लाते हुए शोर मचाने लगी। कुछ ही देर में वहां मंटू तथा काम करने वाले अन्य लोग आ गये। उन्होंने इन दोनों बच्चों को तुरंत ही बाहर निकाला, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। हवलदार ने बताया कि दोनों बच्चों के शव पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिवार वालों को सौंप दिये गये हैेंं। इस सम्बंध में मर्ग दर्ज की जा रही है। मंटू बिहार में रोहिताश जिले में दिनारा थाना क्षेत्र के गांव भानसा का निवासी है।
ट्रक-कैंटर में भिड़ंत, अधेड़ की मौत
रायसिंहनगर-अनूपगढ़ मार्ग पर गुरुवार दोपहर को एक टैंकर तथा एक ट्रक में आमने-सामने की जबरदस्त भिड़ंत हो गई। इस भीषण दुर्घटना में टैंकर का चालक, जो उसका मालिक भी था- मौके पर ही मारा गया। उसका 17 वर्षीय पुत्र घायल हो गया। मृतक रामबाबू (50) पुत्र रामसिंह राजपूत निवासी इंदिरा नगरी, गली नं. 7-वार्ड नं. 24, अबोहर की मौके पर ही मौत हो गई। उसके पुत्र सन्नी को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। रायसिंहनगर थाना में एएसआई रामप्रताप ने बताया कि रामबाबू और उसका पुत्र सन्नी अनूपगढ़ से खाली कैंटर लेकर रायसिंहनगर की तरफ आ रहे थे। रायसिंहनगर से ट्रक अनूपगढ़ जा रहा था। रायसिंहनगर से कुछ ही दूरी पर इन दोनों ट्रकों में दोपहर करीब साढ़े 12 बजे आमने-सामने से
टक्कर हो गई। यह हादसा होते ही ट्रक को उसका चालक तथा खलासी छोड़कर भाग गये। कैंटर चला रहा रामबाबू बुरी तरह से जख्मी हो गया। हादसा होते ही झटका लगने से सन्नी कैंटर की खिड़की से निकलकर सड़क किनारे मिट्टी में जा गिरा, जिससे उसके कम चोटें आईं। दूसरी ओर रामबाबू की बुरी तरह जख्मी हो जाने से वहीं मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि सन्नी की ओर से ही दूसरे ट्रक के चालक पर लापरवाही बरतने का मुकदमा दर्ज किया गया है। देर शाम को रामबाबू का शव पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसके परिवार वालों को सौंप दिया गया।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: