अपना ही पैदा किया अन्न खाने से घबराता ‎है किसान

-शाश्वत यौगिक खेती पर सेमिनार
श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर में संयुक्त निदेशक (कृषि) के कार्यालय में ब्रह्माकुमारीज के कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग द्वारा शाश्वत यौगिक खेती पर आयोजित एक सेमिनार में पलवल हरियाणा से आए कृषि विशेषज्ञ राजेंद्र कुमार ने कहा कि हरित क्रांति के दौर में किसान अपने खेतों में रासायनिक खाद व कीटनाशक दवाएं डाल कर अन्न उत्पादन बढाने के पक्ष में नहीं थे। प्राचीन – वैदिक काल की परंपरागत खेती करते आ रहे तब किसानों को पता था कि इनका प्रयोग करने से खेत की आत्मा (उर्वरा शक्ति) मर जाएगी। 25 प्रतिशत जमीनों के विवादों पर कोर्ट कचहरियों में खर्च हो जाता है। बाकी 50 प्रतिशत अगली फसल के लिए बीज, खाद, कीटनाशक दवाओं की खरीद व तैयारी पर लग जाते हैं। फलस्वरूप किसान कर्जों में दबकर आत्महत्याएं कर रहे हैं। राजेंद्र कुमार ने शाश्वत यौगिक खेती को अपनाने पर बल देते हुए एेसे अनेक उपाय बताए जिससे किसान रासायनिक खादों- कीटनाशक दवाओं से छुटकारा पाने हुए खेती की लागत को कम कर सकते हैं। उन्होंने देसी खेती के तरीकों के बारे में विस्तार से बताया । रासायनिक खादों- कीटनाशक दवाओं के भरपूर उपयोग से जमीन की सारी ताकत का दोहन कर लिया, लेकिन उसकी ताकत बनाए रखने के लिए गोबर की सभी खाद, नीम अर्क का छिडकाव जैसे जैविक खेती के तरीके भूल गए।उन्होंने कहा कि अभी भी कुछ ज्यादा नहीं बिगाड़ा है। गुजरात से आई ब्रह्मकुमारी दक्षा बहन ने किसानों को व्यसन मुक्त हो कर जिंदगी खुशहाल बनाने के टिप्स बताए ।

राजस्थान में 12 दिव्य शाश्वत यौगिक खेती रथ यात्राएं निकाली जा रही है

शीतल ने बताया कि ब्रह्माकुमारीज के ग्रामीण विकास प्रभाग द्वारा राजस्थान में 12 दिव्य शाश्वत यौगिक खेती रथ यात्राएं निकाली जा रही हैं। इसकी शुरूआत 10 सितम्बर को जयपुर में कृषि मंत्री डॉ. प्रभु सिंह सैनी ने की है।इसी रथ यात्रा के साथ ब्रह्माकुमार‎ राजेंद्र, दक्षा बहन, शीतल बहन आदि ब्रह्माकुमारीज का दल श्रीगंगानगर पहुंचा है। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज के स्थानीय सेवा केंद्र की संचालिका बहन मोहिनी ने राजयोग व अध्यामिकता को खेती के साथ जोडने पर बल दिया।उन्होंने राजयोग- मेडिटेशन का अभ्यास करवाया । कार्यक्रम में जीआर मटोरिया व हरबंस सिंह आदि कृषि विभाग के अधिकारी, रिटायर्ड को-आपरेटिव इंस्पेक्टर रणवीरसिंह, फल- सब्जी व्यवसायी धीरज बदरा सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे। सुश्री महक स्वागत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन चूरू सेवा केंद्र की संचालिका बहन सुमन ने किया।स्थानीय सेवा केंद्र में मीडिया प्रभारी गोपाल कृष्ण चावला ने सभी का आभार व्यक्त किया । एेसे ही कार्यक्रम निकटवर्ती गांव ख्यालीवाला तथा लालगढ़ जाटान में भी आज आयोजित किए गए।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: