बड़े भाई के आश्वासन पर व्यापारियों का धरना स्थगित

– पौने 2 करोड़ के भुगतान के लिए दे रहे थे धरना
श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर की अनाज मण्डी के व्यापारियों ने एक फर्म के संचालक से लगभग पौने 2 करोड़ का भुगतान लेने के मामले में दिया जा रहा धरना सोमवार अपराह्न इस फर्म के संचालक के बड़े भाई द्वारा आश्वासन दिये जाने पर स्थगित कर दिया। स्थानीय सी ब्लॉक में फर्म के कार्यालय पर यह धरना कल रविवार सुबह शुरू किया गया था। दी गंगानगर ट्रेडर्स एसोसिशन के अध्यक्ष रमेश खदरिया, कच्चा आढ़तिया संघ के अध्यक्ष कुलदीप कासनिया और व्यापारी नेता हनुमान गोयल की अगुवाई में व्यापारी धरना दे रहे थे। व्यापारी नेता हनुमान गोयल ने आज शाम बताया कि अपराह्न इस फर्म के संचालक मदनलाल सिंगल के बड़े भाई भगतराम, जो पड़ोस में ही रहते हैं, ने धरनास्थल पर आकर व्यापारियों से बातचीत की। बातचीत में रमेश खदरिया, कुलदीप कासनिया, ट्रेडर्स एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष विक्रम चितलांगिया, सचिव रतनलाल गोयल, चंद्रेश जैन आदि मण्डी के गणमान्य व्यापारी शामिल हुए। श्री गोयल के मुताबिक भगतराम ने आश्वस्त किया है कि वे मदनलाल को समझाने का अपनी ओर से पूरा प्रयास करेंगे। 15 दिन में उन्हें भुगतान दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे। इसके बाद भी उन्हें अगर मदनलाल से भुगतान नहीं मिलता, तो वे फिर उनके साथ हैं। हनुमान गोयल ने बताया कि मण्डी की लगभग 35 फर्मांे की तरफ मदनलाल का लगभग पौने 2 करोड़ का भुगतान अटका हुआ है। इनमें कुछ फर्मांे का तो 10 लाख से अधिक का भुगतान है। बीते तीन वर्ष से यह व्यापारी अपने स्तर पर भुगतान के लिए प्रयास कर रहे थे। भुगतान नहीं मिला तो उन्होंने मामला ट्रेडर्स एसोसिएशन के समक्ष रख दिया था। इन व्यापारियों के अनुसार मदनलाल सिंगल भुगतान करने के सम्बंध में पिछले कुछ समय से उनके साथ कोई बात तक करने को तैयार नहीं हो रहे। उनके फोन कॉल सुनने भी बंद कर दिये। बताया जा रहा है कि तीन-चार वर्ष पहले ग्वारगम के सौदों में मदनलाल को काफी बड़ा झटका लगा, जिस कारण उनका भुगतान अटक गया। यह राशि करीब पौने 2 करोड़ बताई जा रही है। जिन फर्मांे ने उनसे भुगतान लेना है, उनमें से एक-दो के संचालकों ने तो कोर्ट मेें केस कर दिये हैं। कल रविवार सुबह से व्यापारियों द्वारा सी ब्लॉक में श्री सिंगल की फर्म के बाहर धरना शुरू कर देने के बाद भी मदनलाल की ओर से कोई बातचीत नहीं की गई। इस पर आज अपराह्न पड़ोस में रहने वाले उनके बड़े भाई भगतराम ने आकर बातचीत की। श्री गोयल ने कहा कि अगर 15 दिन में भुगतान नहीं मिलता, तो फिर व्यापारी फिर से धरने पर बैठ सकते हैं।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: