खड़ीन निर्माण से बदल गई किसानों की तकदीर

-मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान
-तिलाना में खड़ीन निर्माण से बढ़ा कुओं का जलस्तर
-फसल के लिए उपलब्ध है जरूरत का पानी

अजमेर। राजस्थान में पानी की कमी को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे की अभिनव पहल नसीराबाद के पास तिलाना के ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हुई है। मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन के तहत खड़ीन निर्माण से फसल के लिए पानी की कमी तो दूर हुई ही आसपास के कुओं का भी जलस्तर बढ़ गया है।  मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के तहत तिलाना में नंद सिंह के खेत में खड़ीन का निर्माण करवाया गया। लाभान्वित कृषक  श्री नंद सिंह ने बताया कि खड़ीन निर्माण से पूर्व फसल लेने में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता था। वर्षा जल से खेत में कटाव तथा बारिश की अनियमितता के कारण हर साल नुकसान झेलना पड़ता था। इसके साथ ही कुओं में भी पानी बहुत नीचे होने या खारा होने के कारण पीने के लिए भी लम्बी दूरी तय कर पानी लाना पड़ता था।  उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के तहत खड़ीन निर्माण होने के बाद अब किसी तरह की पानी की कमी नहीं है। साल की दो फसलों के लिए पर्याप्त पानी है। इसके साथ ही आसपास के कुओं में भी जल स्तर बढ़ जाने से ना सिर्फ उन्हें बल्कि साथी किसानों को भी फायदा हुआ है।  जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान अजमरे जिले में किसानों के लिए वरदान साबित हुआ है। दूर दराज के गांव जहां विभिन्न कारणों से खेती के लिए पानी उपलब्ध नहीं था, वहा अब फसले लहलहाती हैं। तिलाना के इस कार्य पर एक लाख 79 हजार रूपए की लागत आयी है। लेकिन इससे मिलने वाले परिणाम कहीं अधिक कीमती हैं। खड़ीन में करीब 4.86 थाउसेंड क्यूबिक मीटर पानी है। इतना ही नहीं यहां जन सहयोग से भी 18 हजार रूपए के कार्य करवाए गए। खड़ीन निर्माण से वर्षा जल से बचाव होगा, भू जलस्तर में वृद्धि होगी तथा खरीफ व रबी की फसलों के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध होगा।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: