संगोष्ठी में बोले यादव, ‘मीडिया का गला दबाया जा रहा है’

— राजस्थान पत्रकार संघ की ओर से आयोजित की गई संगोष्ठी
श्रीगंगानगर। प्रख्यात पत्रकार, राजनीतिक-चुनाव विशलेषक योगेन्द्र यादव ने कहा है कि पत्रकारों में अभी भी पत्रकारिता बहुत बची हुई है, लेकिन राज्य सत्ता और पैसों के हमले से मीडिया का गला घोंटा जा रहा है। बंदूक से पत्रकार की आवाज को दबा देना बहुत छोटी बात है। इसके बनिस्पत राज्य सत्ता, पैसे और खुद के डर से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कैद करने की कुचेष्टाएं देश में हो रही हैं, वह पत्रकारिता के लिए ज्यादा खतरनाक है।
श्रीगंगानगर में होटल प्रतीक प्लाजा में राजस्थान पत्रकार संघ (जार) की ओर से सोमवार अपराह्न आयोजित की गई संगोष्ठी में योगेन्द्र यादव ने पत्रकारिता की स्वतंत्रता-अभिव्यक्ति पर मंडरा रहे खतरों को रेखांकित करते हुए देश के समक्ष अनेक ज्वलंत मुद्दों पर उन्होंने बेबाक अपनी राय तथा विचार रखे। संगोष्ठी में बड़ी संख्या में स्थानीय मीडियाकर्मी और गणमान्य लोग मौजूद रहे।
यादव का किया स्वागत
संगोष्ठी में योगेन्द्र यादव का जार की जिला इकाई के अध्यक्ष रामकिशन शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार-साहित्यकार कृष्ण बृसपति, महासचिव संजय सेठी, अनिल शाक्य, महेश गुप्ता, राकेश मितवा, डॉ. केके आशु आदि पत्रकारों ने शॉल ओढ़ाकर स्वागत-अभिनन्दन किया। कृष्ण बृसपति ने योगेन्द्र यादव का परिचय दिया। राकेश मितवा ने मंच संचालन किया।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: