उत्पादन निगम के निजीकरण के विरोध में 26 को जयपुर में प्रदर्शन

श्रीगंगानगर। राजस्थान सयुक्त संघर्ष समिति शाखा सूरतगढ़ थर्मल द्वारा चार माह से प्रदेश की सभी तापीय परियोजनाओ में विनिवेश के तहत किये जा रहे निजीकरण के विरोध में चल रहे आंदोलन के तहत आज सूरतगढ़ थर्मल के मुख्य द्वार पर किया जा रहा विरोध प्रदर्शन सोमवार चौथे दिन भी जारी रहा।। सोमवार को मुख्य अभियन्ता एवम अतिरिक्त मुख्य अभियंता को छोड़कर शेष करीब 1000 थर्मल कर्मचारियो व अधिकारियो ने आकस्मिक अवकाश के प्रार्थना पत्र प्रदर्शन स्थल पर ही मुख्य अभियंता एम एल शर्मा जी को सौपे गये। करीब एक घण्टे चले इस विरोध प्रदर्शन में सूरतगढ़ थर्मल के उप मुख्य अभियन्ता, अधीक्षण अभियंता, लेखाधिकारी, सहित सैकड़ों कर्मचारियों ने उत्पादन निगम प्रशासन और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन स्थल पर सम्बोधित करते हुऐ अधिशाषी अभियंता निखिल असवाल के कहा कि यह राज्य सरकार की हठधर्मिता के कारण लाभ में होते हुए भी उत्पादन निगम को विनिवेश के नाम पर निजी हाथों में सौंपने की प्रक्रिया चल रही है। बलीराम मेघवाल ने कहा कि यदि सरकार ने इस निर्णय पर पुनर्विचार नहीं किया तो आंदोलन को और उग्र किया जाएगा।इसके अलावा एम. आर. चचाण, सतीश प्रसाद चमोला, विजय सोनी, बलवीर सैनी, परमेश्वर लाल, कंवरजीत सिंह, मनोज सहारण, राहुल शर्मा, नरेंद्र शेखावत, श्याम सुंदर शर्मा ने भी विचार रखे।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: