किसान की उन्नति से होगी देश भी उन्नति : जाट

कोटा । कृषि विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित तीन दिवसीय संभागीय तिलहन किसान मेले का उद्घाटन शनिवार को राज्य किसान आयोग के अध्यक्ष प्रो. सांवरलाल जाट ने किया। प्रो. जाट ने कहा कि कृषि देश की आर्थिक व्यवस्था का आधार है। किसान एवं पशुपालक आधुनिक तकनीक से रूबरू होकर उन्नति करेगें तो देश में भी उन्नति आयेगी। उन्होंने कहा कि कृषि परम्परागत व्यवसाय है, अब इसे लाभकारी बनाकर युवाओं को आधुनिक तकनीकी से रूबरू कराते हुए किसानों की आय दुगनी करनी होगी। राज्य में अलग अलग क्षेत्रों में जलवायु, पानी की मात्रा एवं जलवायु के आधार पर कृषि वैज्ञानिक अनुसंधान कर उसकी जानकारी खेतों तक पहुंचाये जिससे गांव का किसान लाभ ले सके। उन्होंने इस प्रकार के कृषि मेंलों को उपयोगी बताते हुए कहा कि एक ही स्थान पर आधुनिक तकनीकी एवं कृषि यंत्रों की जानकारी मिलने से किसान लाभान्वित होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कृषि शिक्षा प्रसार निदेशक डॉ. आईएन गुप्ता ने आंवला, सफेद मूसली, लहसुन के लिए किए गए अनुसंधान का किसानों को मिल रहे लाभ के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम संयोजक कृषि विज्ञान केन्द्र डॉ. महेन्द्रसिंह ने कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा कृषि उत्पादों के प्रसस्कण से इजाद किये उत्पादों के बारे में जानकारी दी। कृषि वानिकी महाविद्यालय झालावाड़ के अधिष्ठाता डॉ. एलके दशोरा ने कहा कि किसानों को आमदनी बढाने के लिए कृषि में विविधिकरण अपनाकर आधुनिक तकनीकी अपनानी होगी। कृषि अनुसंधान निदेशक डॉ. प्रतापसिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा अनुसंधान कर कोटा मसूर, प्रताप उडद, धनिया के लिए आरके 18 की नई किस्म इजाद की हैं जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है। जयवीरसिंह अमृतकुआं मे कहा कि इस प्रकार के मेलों के आयोजन से किसान को नई तकनीकी की जानकारी एवं प्रदर्शन एक ही स्थान पर देखने को मिलेगा। तीन दिवसीय कृषि मेले के आयोजन में कृषि से सम्बन्धित सभी जानकारी एक ही स्थान पर देखने को मिल रही हैं। तिलहन के सभी किस्मों के बीज, कृषि उत्पादों के प्रसंस्करण, शहद से लेकर विभिन्न पेय पदार्थ व आचार मुरब्बे, फव्वारा एवं बूंद-बूंद सिचाई पद्वति, कृषि यंन्त्र एवं खेती में काम आने वाले सहायक उपकरण, आधुनिक कृषि पद्धति की जानकारी स्टॉलो पर दी रही हैं।


correspondent

Hemant Bhati

Hemant Bhati

%d bloggers like this: