मनेविज्ञान के बारे में आम जन को समझाने की जरूरत – ठाकुर

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यलय के मनोविज्ञान विभाग की मेजबानी में गुरुवार को मनोविज्ञान से संबंधित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन सेंटर फॉर एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेन्ट, दिल्ली के निदेशक जी. पी. ठाकुर ने किया। वैश्विक समुदाय निर्माण के लिए मनोवैज्ञानिक विषयक इस तीन दिवसीय सम्मेलन में ठाकुर ने कहा कि मनेविज्ञान के बारे में आम जन को समझाने की जरूरत है। इसके जरिए सामाजिक, आर्थिक, पर्यावरणीय रूप से वैश्वीकरण के नकारात्मक प्रभाव पर विचार किया जाना चाहिए और यह काम मनोवैज्ञानिक ही कर सकते हैं। कोटा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पी के. दशोरा और डॉ नरबदन शर्मा ने भी सम्मेलन को संबोधित किया।


Desert Time

correspondent

Hemant Bhati

Hemant Bhati

%d bloggers like this: