जयपुर में इंडिया-सीएलएमवी बिजनेस कॉन्क्लेव 27 फरवरी

जयपुर। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री, निर्मला सीतारमण इंडिया-सीएलएमवी (कंबोडिया, लाओस पीडीआर, म्यांमार और वियतनाम) बिजनेस कॉन्क्लेव के चैथे संस्करण का जयपुर के होटल आईटीसी राजूपताना में सोमवार, 27 फरवरी को प्रातः 10.30 बजे उद्घाटन करेंगी। इस कॉन्क्लेव के उद्घाटन समारोह में राजस्थान की मुख्यमंत्री, वसुंधरा राजे के शामिल होने की भी संभावना है। दो दिवसीय इस काॅन्क्लेव में कम्बोडिया के वाणिज्य मंत्री; एच.ई. सोरासक; म्यांमार के केंद्रीय वाणिज्य मंत्री एच.ई. डाॅ. थान मिंट और वियतनाम के उद्योग एवं व्यापार के उप मंत्री, एच.ई. काओ क्वोक हुंग सम्बोधित करेंगे। इन काॅन्क्लेव में कंपनियों एवं उद्योग जगत के अनेक वरिष्ठ वक्ता भी शामिल होंगे। जिनमें सीआईआई के प्रेसीडेंट, नौशाद फोब्र्स; सीआईआई के डायरेक्टर जनरल, चंद्रजीत बनर्जी; भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के वाणिज्य विभाग के संयुक्त सचिव, अली आर. रिजवी; सोमानी सिरेमिक्स लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेषक, श्रीकांत सोमानी; एक्सपोर्ट इम्पोर्ट बैंक आॅफ इंडिया के डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर, देबाशीष मलिक; किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेषक, संजय किर्लोस्कर; टैफे लिमिटेड के प्रेसीडेंट एवं सीओओ, टीआर केशवन; अपोलो मेडिस्किल्स लिमिटेड के सीईओ, डाॅ. पुलिजल श्रीनिवास राव; हीरो फ्यूचर एनर्जीज प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेषक, राहुल मुंजाल शामिल होंगे। काॅन्फेडरेषन आॅफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) द्वारा वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के उद्योग विभाग के सहयोग से आयोजित यह कॉन्क्लेव सीएलएमवी समूह के देषों के साथ भारत के आर्थिक सहयोग को मजबूती प्रदान करेगी। आसियान क्षेत्र में अल्प विकासशील देशों (एलडीसी) के सीएलएमवी समूह को भारत सरकार की ‘एक्ट ईस्ट पाॅलिसी‘ के तहत विषेष ध्यान दिया गया है, जिसमें वित्तीय प्रोत्साहन भी शामिल हैं, ताकि इस क्षेत्र में भारतीय उद्योग जगत के फुटप्रिंट को मजबूती प्रदान हो। इन अल्प विकासशील देशों में निहित प्रचुर प्राकृतिक संसाधनों का लाभ उठाने के लिए निवेष एवं व्यापार के अवसरों की तलाश कर रही भारतीय कम्पनियों के लिए इस बिजनेस काॅन्क्लेव में भाग लेना विषेष रूचिकर होगा। इंडिया-सीएलएमवी बिजनेस कॉन्क्लेव में मैन्यूफैक्चरिंग, रिन्यूएबल एनर्जी, एग्रीकल्चर एवं स्किलिंग जैसे विषय शामिल किए जाएंगे। इन क्षेत्रों में विषेष परियोजनाओं के अवसरों की पहचान एवं व्यापारिक भागीदारियां बनाना इस काॅन्क्लेव का प्रमुख उद्देष्य है। इस आयोजन में बी2बी मीटिंग्स, सैक्टरल सैषन एवं कंट्री सैषन आयोजित किए जाएंगे। इनमें फार्मा, हेल्थकेयर, एग्री बिजनेस, फूड प्रोसेसिंग, जैम्स एंड ज्वैलरी, टेक्सटाइल, लेदर, रिन्ययूएबल एनर्जी, स्किल्स एवं एजुकेषन जैसे क्षेत्रों पर फोकस किया जाएगा।


Desert Time

correspondent

Hemant Bhati

Hemant Bhati

Breaking News
%d bloggers like this: