जागरूकता और सतत प्रयास ने बदल दिए प्रतिमान …जानिए कहां और कैसे

श्रीगंगानगर। जेंडर रेशियो में बढ़ते असंतुलन के इस दौर में श्रीगंगानगर से एक अच्छी खबर आई है। नए साल के पहले महीने में इस जिले में 1460 बेटों की तुलना में 1475 बेटियों ने जन्म लिया है। सीएमएचओ डॉ नरेश बंसल ने सोमवार को आयोजित जिला स्तरीय बैठक में यह सुसंवाद सुनाया। हाल की अवधि में ऐसा पहली बार हुआ है जब जन्म लेने वालों की संख्या के लिहाज से कन्याओं ने सुपरसीड किया हो। जिला कलक्टर ज्ञानाराम ने इसे बढ़ती जन-जागरूकता का द्योतक बताया है। लैंगिक भेदभाव के प्रति और जागृति फैलाने के उद्दश्य से उत्साहित और कई कदम उठाने का फैसला भी बैठक में लिया गया। इनमें जिला खेल विभाग के सहयोग से महिला दिवस के पहले बेटी बचाओ, बेटी प़ढ़ाओ की थीम पर जिला और ब्लॉक स्तर पर मैराथन दौड़ का आयोजन तथा पंचायत, ब्लॉक और जिला स्तर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की ब्रांड एंबेसडर नियुक्त करना शामिल है। इसके अलावा प्रत्येक महीने की 11 तारीख को सभी ब्लॉक व सीएचसी पर बेटी जन्मोत्सव का आयोजन कर बच्चियों को उपयुक्त उपहार दिए जाएंगे।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: