अगले दो माह में बीकानेर में हो सकेगा लीवर प्रत्यारोपण: सराफ

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में आगामी दो माह में लीवर प्रत्यारोपण की चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने के प्रयास होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में जिस तेजी से चिकित्सा के विकास के लिए कार्य किये जा रहे हैं, ऎसा पहले कभी नहीं हुआ। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री शनिवार को पीबीएम अस्पताल के आचार्य तुलसी कैंसर चिकित्सा एवं अनुसंधान केन्द्र के सभागार में ’भामाशाह सम्मान’ समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि सीमित वित्तीय संसाधन के बावजूद राज्य सरकार आमजन को स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि अगर भामाशाह आगे आकर सहयोग करें तो और अधिक सुविधाएं दी जा सकेंगी। उन्होंने कहा कि जनसहभागिता योजना के तहत राज्य में 40 करोड़ रूपये स्वीकृत हुए थे, जिनमें से 36 करोड़ रूपये बीकानेर मेडिकल कॉलेज के कुशल नेतृत्व और भामाशाहों की रूचि की वज़ह से यहां पर खर्च हुए हैं। इसके लिए उन्होंने भामाशाहों और कॉलेज प्रशासन की सराहना की। सराफ ने राज्य में चिकित्सा के क्षेत्र में गत तीन वर्ष मेंं हुए कार्यों की विस्तार से जानकारी दी और कहा कि इस दौरान में राज्य में 4 हजार 594 चिकित्सकों और 20 हजार से अधिक पैरामेडिकल स्टाफ को नियुक्ति दी गई है। उन्होंने राज्य में 14 मेडिकल कॉलेज हैं, जिनमें से 8 सरकारी और 6 निजी क्षेत्र में संचालित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार के सहयोग से इस साल राज्य में 8 नए मेडिकल कॉलेज खोले गए हैं, जिनमें से चूरू मेडिकल कॉलेज भी शामिल है। उन्होंने कहा कि चूरू मेडिकल कॉलेज का पहला सत्र जुलाई 2017 से प्रारंभ होगा, इस आशय के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में सुपर स्पेस्लिटी चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने की दिशा में भी प्रयास हुए है। जयपुर में इस सेवा पर 200 करोड़ और बीकानेर, कोटा, उदयपुर में इस सेवा के लिए 150-150 करोड़ रूपये व्यय किए जाएंगे। इस सेवा के प्रारंभ हो जाने पर रोगियों को उपचार के लिए राजस्थान से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: