सकारात्मक सोच से ही स्वस्थ समाज का निर्माण संभवः विधायक

मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य एवं जनचेतना कार्यक्रम सम्पन्न, अनेक प्रतियोगिता के विजेता पुरस्कृत
सेमारी । देश में बढती जनसंख्या को रोकने तथा मातृ एवं शिश्ु मृत्यु दर को कम करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार द्धारा अनेक स्वास्थ्य की योजनाए चलाई जा रही है । उन्होने कहां कि जब तक आम- आदमी के मन मे यह विचार नही आएगा कि अमुख योजना से स्वय , समाज एवं देश पर क्या प्रभाव पडेगा तब तक सकारात्मक परिणाम की परीकल्पना नही की जा सकती। सलूम्बर विधायक अमृत लाल मीणा बुधवार को उदयपुर जिले की सेमारी पंचायत समिति की ग्राम पंचायत उपलाफलां सदकडी तुम्बडा तालाब के राजकीय उच्च प्राथमिक विधालय परिसर में क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार उदयपुर द्वारा केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से आयोजित मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य (वात्सल्य) कार्यक्रम में उपस्थित माताओं-बहनों, युवक तथा युवतियों एवं ग्रामीणजनों को मुख्य अतिथि पद से सम्बोधित कर रहे थे। उनहोने कहां कि स्वास्थ्य के बारे में चलाई जा रही योजनाओ के प्रचार -प्रसार करने से निश्चिय ही लोगों में जागरूक कि भावना होगी तभी उनकी सोच एवं व्यवहार में परिवर्तन लाया जा सकता है। उन्होने केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्धारा चलाई जा रही बेटी बचाओं बेटी पढाओं योजना एंव राज श्री योजना को उपयोगी बताते हुए लाभ उठाने की अपील की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पंचायत समिति सेमारी की प्रधान सोनल देवी मीणा ने कहां कि बालिकाओं को बढावा देने एवं मृत्यु दर को कम करने के लिए केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार ने अनेक जनकल्याणकारी योजनाए चला रखी हैं जैसे जननी सुरक्षा योजना ,जननी शिशु सुरक्षा योजना ,प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना तथा राजश्री योजना चला रखी है। उन्होने महिलाओं के साथ- साथ पुरूर्षो को भी परिवार नियोजन के तरिकों को अपनाने के लिए आगे आने पर जोर दिया । उन्होने कहां कि स्वस्थ राष्ट्र के निर्माण के लिए मां एवं बच्चे का सम्पूर्ण टीकाकरण कराना आवश्यक है । कार्यक्रम में सराडा ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 सुरेश मण्डावरियां ने मातृ स्वास्थ्य,शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण ,परिवार नियोजन तथा राष्टीय स्वास्थ्य कार्यक्रम ,104 एवं 108 एम्बूलेन्स, पीपीआईयूसीडी ,आईयूसीडी तथा भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, इंटीग्रेटेड एम्बुलेंस योजना, डायल ऐन एम्बुलैंस सेवा, स्तनपान के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए लाभ उठाने की अपील की। चिकित्सा अधिकारी डॉ0 अजय सिंह मीणा ने महिलाओं से कहां कि मां एवं बच्चे की सुरक्षा के लिए सबसे पहले गर्भवती महिला को अपने निकटवर्ती स्वास्थ्य केन्द्र पर अपना पंजीकरण कराना चाहिए। इसके बाद आंगनवाडी कार्यकर्ता, आशा तथा एएनएम के जरिए प्रसव पूर्व की जाने वाली चार जॉच उसे अवश्य करानी होगी । इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास परियोजना सराडा की महिला पर्यवेक्षक शीला रावत ने मातृ शिशु के अच्छे स्वास्थ्य के लिए संतुलित भोजन करने के साथ साथ स्वच्छता पर भी प्रकाश डाला।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

Breaking News
%d bloggers like this: