जेएनवीयू शिक्षक भर्ती घोटाला: संगीत विभागाध्यक्ष से पूछताछ

जोधपुर। जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय शिक्षक भर्ती घोटाले के मामले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने सोमवार को पूछताछ के लिए संगीत विभागाध्यक्ष को दस्तयाब किया है। पूछताछ के बाद एसीबी उन्हें गिरफ्तार भी कर सकती है। हालांकि दोपहर तक एसीबी ने गिरफ्तारी को सार्वजनिक नहीं किया था। एसीबी के कार्यालय में उससे भर्ती घोटाला संबंधी पूछताछ की जा रही है। बताया गया है कि मामले में एसीबी द्वारा पेश चार्जशीट विशिष्ट न्यायालय (भ्रष्टाचार मामलात) में 17 फरवरी को दर्ज हो सकती है। एसीबी के पुलिस अधीक्षक अजयपाल लांबा ने बताया कि एसीबी ने गत दिनों अनुसंधान के बाद मामले में तत्कालीन कुलपति प्रो. भंवरसिंह राजपुरोहित, पूर्व विधायक व तत्कालीन सिंडिकेट सदस्य जुगल काबरा, सिंडिकेट सदस्य डूंगरसिंह खींची, विधि संकाय के पूर्व अधिष्ठाता श्यामसुंदर शर्मा, यूडीसी केशवन एब्रारन व दरियावसिंह चूण्डावत सहित कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया था। अब इस मामले में आज विवि के संगीत विभागाध्यक्ष प्रोफेसर सुरेंद्र कुमार को दस्तयाब किया गया है। एसीबी अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे है। सवालों का संतुष्टजनक जवाब नहीं देने पर उनकी गिरफ्तारी भी संभव है। उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही एसीबी ने अंग्रेजी विभाग के एक प्रोफेसर से भी पूछताछ की थी। दिनभर पूछताछ के बाद उसे शाम को छोड़ दिया था। उल्लेखनीय है कि साल 2012 में जेएनवीयू में सहायक प्रोफेसर पद पर नियुक्ति में धांधली हुई थी। भर्ती में यूजीसी के नियम 2010 का पालन नहीं करने तथा इस पद के लिए अभ्यार्थी की योग्यता संबंधी विवि अध्यादेश 317 में किए गए संशोधन से राज्य सरकार एवं राजभवन को अंधेरे में रखते हुए अपने रिश्तेदारों एवं चहेतों को नियुक्ति प्रदान करने के आरोप हैं। इस भर्ती का विरोध होने पर सरकार ने इसकी जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को सौंपी थी।


correspondent

Akhil Vyas

Akhil Vyas

%d bloggers like this: