8 साल बाद अनिता लौटी अपने पति के पास…

दौसाःराष्ट्रीय लोक अदालत में बसे अनेक घर
दौसा। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के नेतृत्व में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन सम्पूर्ण राजस्थान में किया गया। इसमें न केवल अनेक प्रकरणों का निस्तारण हुआ, बल्कि अनेेक घर भी बसे। उदाहरण के रूप में दौसा में पारिवारिक न्यायालय में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 06 प्रकरणों में पति-पत्नी साथ रहने के लिए सहमत हुए और उन्होंने जिला एवं सेशन न्यायाधीश, दौसा के समक्ष आपस में माला पहनाकर सुखद जीवन का आशिर्वाद प्राप्त किया। प्रकरण-1. गांव बालावास के कान्तीप्रसाद तथा जयपुर की श्रीमती सोनी उर्फ निशा के मध्य 08 साल से विवाद चल रहा था तथा दोनों अलग-अलग निवास कर रहे थे, जिनकी लोक अदालत में समझाईश की गई। पक्षकारों में राजीनामा हो गया और दोनों पक्ष न्यायालय से राजीखुशी एक साथ रहने के लिए अपने घर को गए। प्रकरण-2 व 3. गांव टिकरिया की कुई निवासी श्रीमती मन्नू तथा ग्राम कोट निवासी रामवीर तथा मन्नू की बहन अनिता और उसके पति बलबीर के मध्य भी पिछले 08 साल से विवाद चल रहा था तथा दोनों पति-पत्नी ढाई साल से अलग-अलग निवास कर रहे थे और तलाक की याचिका पेश की हुई थी जिनकी लोक अदालत में समझाईश की गई और दोनों साथ रहने को सहमत हुए तथा साथ ही अपनी तलाक याचिका भी वापस ले ली। प्रकरण- 4. गांव कालवान सीकरी निवासी श्रीमती वन्दना शर्मा और गौरव प्रकाश के मध्य तीन वर्ष से विवाद चल रहा था और दोनों अलग-अलग रह रहे थे तथा दोनों में सहमति से विवाह-विच्छेद हेतु याचिक प्रस्तुत कर रखी थी, परन्तु राष्ट्रीय लोक अदालत में दोनों पक्षों के मध्य समझाईश की गई तो दोनों पक्ष साथ रहने को सहमत हुए और अपने विवादों को समाप्त किया तथा अपने प्रकरण को वापस ले लिया। प्रकरण-5. ग्राम आलुदा के नरेन्द्र कुमार और दौसा की लाली देवी के मध्य 06 महिने से विवाद चल रहा था और दोनों अलग-अलग रह रहे थे, परन्तु लोक अदालत में दोनों पति-पत्नी के साथ समझाईश की गई तो दोनों साथ रहने को सहमत हुए और अपने विवादों को समाप्त किया तथा अपने प्रकरण को वापस ले लिया। प्रकरण-6. ग्राम बड़ागाँव निवासी कमलेश और गाँव रामसर निवासी श्रीमती बीना के मध्य 06 वर्ष से विवाद चल रहा था और दोनों अलग-अलग रह रहे थे। लोक अदालत बैन्च के माननीय अध्यक्ष एवं सदस्य द्वारा समझाईश करने के उपरान्त दोनों एक साथ रहने को सहमत हुो गए हैं तथा अपने विवाद को समाप्त करने हेतु प्रकरण को वापस ले लिया।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: