पंजाब क्षेत्र की नहर एवं हरिके बैराज लिकेज गेटों की होगी मरम्मत

डिसिल्टिंग सहित अन्य कार्यों के लिये राजस्थान सरकार ने 39 करोड़ किये स्वीकृत
श्रीगंगानगर। पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री एवं सांसद निहालचंद ने प्रदेश की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे तथा जलसंसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप का पंजाब क्षेत्र की नहरों की मरम्मत, हरिके बैराज पर गेट लिकेज मरम्मत कार्य तथा डिसिल्टिंग के लिये 39 करोड़ रूपये की राशि की स्वीकृति जारी करने पर आभार व्यक्त किया है। सांसद निहालचंद ने बताया कि राजस्थान सरकार ने 29 करोड़ रूपये की राशि पंजाब सरकार को विभिन्न कार्यों के लिये जारी कर दी है। 29 करोड़ रूपये की राशि का उपयोग होने पर 10 करोड़ रूपये की राशि सरकार द्वारा ओर भिजवायी जायेगी। उन्होंने बताया कि ये सभी कार्य नहर बंदी के दौरान करवाये जायेंगे। हरिके बैराज गेट लिकेज के कारण पानी पाकिस्तान की ओर व्यर्थ बह जाता है। गेटो की मरम्मत होने से पानी की बचत होगी, जिसका सीधा लाभ राजस्थान के किसानों को मिलेगा।
हरिके बैराज पर डेम के गेट के पास जमा रेती को भी निकालने का कार्य किया जायेगा। सरकार ने किसानों के हित को देखते हुए राशि स्वीकृत की है। हरिके बैराज पर गेटों के पास जमा सिल्ट को पहली बार निकाला जा रहा है। पूर्व में डिसिल्टिंग का कार्य नही हुआ। सिंचाई अधिकारियों ने बताया कि डेम में सिल्ट अत्यधिक मात्रा में जमा होने से भराव क्षमता भी कम हो गयी है। डेम में पानी का भराव कम होने से सीधा असर राजस्थान के किसानों पर पड़ता है। स्वीकृत राशि से गेट लिकेज मरम्मत होने, नहरों की मरम्मत तथा डिसिल्टिंग होने से पानी की मात्रा बढ़ेगी तथा राजस्थान के किसानों को इसका फायदा मिलेगा। सिचांई विभाग द्वारा गेट एण्ड गियर, हैड रेगुलेटर, पिट फिलिंग, कॉमन बैंक आरडी पांच सौ से नौ सौ की हैड रेगुलेटर की मरम्मत का कार्य करवाया जायेगा। राजस्थान फीडर के गेट हैड रेगुलेटर, हरिके हैड वकर्स पर डिसिल्टिंग का कार्य किया जायेगा। फिरोजपुर फीडर एवं राजस्थान फीडर के गेट मरम्मत के अलावा डिसिल्टिंग के कार्य करवाये जायेंगे।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: