पेंशन से वंचित करना घोर अमानवीय : पायलट

प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ने कहा, सरकार की कथनी व करनी में अंतर
जयपुर। कृषि विश्वविद्यालयों के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन से वंचित रखेे जाने को घोर अमानवीयता करार देते हुए राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि इससे सरकार की असंवेदनशीलता का पता चलता है। पायलट ने कहा कि प्रदेश के समस्त कृषि विश्वविद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों, अधिकारियों व कर्मचारियों को उनके पेंशन के अधिकार से वंचित रखा गया है जिसके कारण सेवानिवृत्त होने के बाद उनकी आर्थिक स्थिति दयनीय बनी हुई है। पेंशन प्राप्त किए बिना ही इस श्रेणी के 80 लोग मर चुके हैं। इससे बड़ी असंवेदनशीलता और क्या हो सकती है। सरकार एक तरफ तो दावा करती है कि वरिष्ठजनों को विशेष तरजीह देकर उनको समर्पित योजनाएं शुरू कर उनके जीवन को सुगम बनाया जायेगा। दूसरी तरफ वर्षों से कृषि विश्वविद्यालयों में सेवा दे रहे लोगों को उनका सेवाकाल पूरा होने के पश्चात उनके पेंशन के अधिकार से वंचित रखा जा रहा है। यह कथनी व करनी में अंतर का स्पष्ट उदाहरण है।


Desert Time

correspondent

Hemant Bhati

Hemant Bhati

%d bloggers like this: