ध्वजा यात्रा के साथ अखंड रामनाम संकीर्तन

फरवरी तक मनेगा वार्षिकोत्सव
श्रीगंगानगर। छम-छम नाचे देखो वीर हनुमाना…, मेरे बाबा से जिसका संबंध हैं उसके घर में आनंद ही आनंद हैं…, के गूंजते भजन ओर झूूमते श्रृद्वालू। मौका था पुरानी आबादी के उदाराम चौक स्थित सिद्वपीठ श्रीझांकीवाले बालाजी मंदिर के वार्षिकोत्सव के दौरान अग्रसेन चौक से निकली ध्वजयात्रा का। सुबह करीब 9 बजे महाराजा अग्रसेन चौक से ध्वजायात्रा शुरू हुई तो चारों ओर श्रीबालाजी महाराज के जयकारें गूंजने लगे। यात्रा गुजरने के बाद सड़कों पर फूलों की चादर-सी बिछ गई। वहीं यात्रा के दौरान सेवादारों ने फोगिंग मशीन से श्रृद्वालुओं पर गुलाब जल और इत्र की बारिश की तथा पंजाबी पोशाक में ढोल-नगाड़े ओर घोड़े पर बैठे सेवादार भी यात्रा मेें आकर्षण का केंद्र रहे। ध्वजा यात्रा सिद्वपीठ श्रीझांकीवाले बालाजी मंदिर पहुंची तो भक्तों ने आ पहुंचे दरबार बाबाजी तेरे आ पहुंचे…भजन गाया। यह ध्वज यात्रा श्रीशंकरलाल बजाज के नेतृत्व में निकाली गई तथा इस ध्वजायात्रा के प्रभारी संदीप अनेजा, अशोक कोठारी, अशोक शर्मा थे। महामण्डेलश्वर स्वामी आत्मानंदपुरी महाराज व स्वामी ब्रह्मदेव के सानिध्य में गणेश वंदना और हनुमान चालीसा के साथ रामनाम संकीर्तन शुरू हुआ। भजन मंडल के प्रधान सुरेन्द्र चौधरी, प्रेम अग्रवाल , मदनगोपाल अग्रवाल, सुरेंद्र सिंगल , शंकरलाल अग्रवाल सहित अन्य सेवादारों आदि ने
पाठ किया। रामनाम संकीर्तन पांच दिन तक चलेगा। इस पांच दिवसीय अखंड रामनाम संकीर्तन के दौरान बाबा का अटूट भंड़ारा चलेगा। 9 फरवरी की शाम को विधि-विधान से पूजा-अर्चना व सामूहिक आरती के साथ वार्षिकोत्सव का समापन होगा।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: