स्टेट पवेलियन में प्रदर्शित किए जा रहे हैं राज्यों के पत्थर

जयपुर। गत कुछ वर्षों की तरह इंडिया स्टोन मार्ट के 9वें संस्करण में इस बार भी विभिन्न राज्यों के विषेष पैवेलियंस लगाए गए हैं। इनमें आंध्र प्रदेश, झारखंड, गुजरात एवं ओड़िशा राज्य शामिल हैं।गुजरात राज्य द्वारा लगाए गए पैवेलियन में राज्य के खनिज व प्राकृतिक संसाधनों को प्रदर्षित किया गया है। गुजरात द्वारा वर्ष 2009 से इंडिया स्टोन मार्ट के प्रत्येक संस्करण में पैवेलियन लगाया जा रहा है। इसके पैवेलियन में स्टोन्स व मार्बल की ड्रिलिंग, शेपिंग, प्लानिंग, साॅइंग, रीमिंग व ग्राइंडिंग करने वाली लेथ मषीनरी प्रदर्षित की जा रही है। गुजरात राज्य ब्लैक ग्रेनाइट व मार्बल के खनन के लिए काफी प्रसिद्ध है। इस पैवेलियन में जयपुर, बैंगलुरू, छत्तीसगढ़, केरल, महाराष्ट्र के साथ-साथ ईराक, संयुक्त अरब अमीरात व चीन जैसे देशों की ओर से भी क्वेरीज प्राप्त हो रही है। ओड़िशा राज्य पत्थर की जटिल नक्काषी के लिए प्रसिद्ध है। राज्य के कारीगर विभिन्न आकृतियों व आकारों के छैनी व हथौड़ों जैसे साधारण उपकरणों के साथ हार्ड ग्रेनाइट, खंडेलाइट स्टोन व केंडुमुंडी स्टोन जैसे नाजुक पत्थर पर आसानी से काम करने के लिए जाने जाते हैं। यहां के कारीगरों द्वारा सजावटी सामान के अतिरिक्त दैनिक उपयोग के आधुनिक आइटम, घर व गार्डन की सजावटी सामान व किचरवेयर भी प्रदर्षित किये जा रहे हैं। इस पैवेलियन में पत्थर की बनी कृष्ण, गणेश, बुद्ध की खूबसूरत मूर्तियों के साथ-साथ सैंडस्टोन से बने पारम्परिक टच लिये सजावटी सामान प्रदर्षित किए जा रहे हैं। सैंडस्टोन को स्थानीय भाषा में सहाना पत्थर के नाम से जाना जाता है, जबकि साॅफ्ट स्टोन को खाडी पत्थर कहा जाता है। ओड़िशा राज्य के पैवेलियन में गुलाबी एवं सफेद साॅफ्ट स्टोन की विभिन्न किस्मों से बनी हुई कलाकृतियां प्रदर्षित की गई हैं। साथ ही ग्रेनाइट से बनी सामान्य व देवी-देवताओं की मूर्तियां विजिटर्स को आकर्षित कर रही है। यहां ग्रेनाइट की सबसे ठोस किस्म भी उपलब्ध है।


Desert Time

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: