नकली चेकों से बैंक को 33 लाख की चपत लगाई

आईसीआईसीआई बैंक के साथ ठगी, केस दर्ज
श्रीगंगानगर। आईसीआईसीआई बैंक की स्थानीय लक्कड़मण्डी रोड शाखा को अज्ञात शख्स ने दो नकली चैकों से लगभग 33 लाख की चपत लगा दी। बैंक अधिकारियों को इसका बाद में तब पता चला, जब उनके द्वारा इन चैकों के आधार पर पेमेंट दूसरे खातों में ट्रांसफर कर दी गई। रकम तीन-चार और खातों में ट्रांसफर होते हुए कैश करवा ली गई। यह मामला बुधवार को सामने आया। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आईसीआईसीआई बैंक के अधिकारियों ने आज पुलिस अधिकारियों को पूरे मामले से अगवत करवाते हुए बताया कि विगत 13 जनवरी को लक्कड़मण्डी रोड शाखा मेें लगे ड्रॉप बॉक्स में दो चैक प्राप्त हुए थे। एक चैक 14 लाख से अधिक और दूसरा 18 लाख से अधिक की राशि का था। देखने में यह चैक बिल्कुल ही आईसीआईसीआई बैंक के असली चैक जैसे लग रहे थे। इन चैकों में किसी तरह का कोई फर्क या संदेह नजर नहीं आ रहा था। लिहाजा चैक क्लियर कर दिये गये। चैकों के साथ लगाये गये वाउचर पर दर्ज संख्या के मुताबिक दूसरे खातों में राशि ट्रांसफर कर दी गई। यह रकम ऑनलाइन ही दो-तीन और खातों में ट्रांसफर हुई। इनमें से 14 लाख से अधिक की राशि विगत दिवस नीमराना में कैश करवा ली गई। दूसरे चैक की 18 लाख से अधिक की रकम कोलकाता के एक खाते में ट्रांसफर हुई है। यह रकम वहां निकाली गई है या नहीं, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई। पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर अज्ञात ठगों के विरुद्ध कोतवाली में
मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। कोतवाल राहुल यादव ने बताया कि जिस शख्स को बैंक द्वारा जारी की गई चैक बुक के चैक इस बैंक में क्लियरिंग के लिए लगाये गये हैं, उस नम्बर के वास्तविक-असली चैक उस शख्स की चैक बुक में मौजूद हैं। जब चैकबुक से चैक निकले ही नहीं है, तो उसी नम्बर के चैक क्लियरिंग के लिए इस शाखा में लगाये गये हैं। लिहाजा प्रथम दृष्टया यह नकली चैकों से बैंक के साथ ठगी का मामला है। इसकी जांच-पड़ताल शुरू कर दी गई है।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: