नहर में मिला युवक का शव, सीमा से सटे इलाके में नहर में मिली तैरती युवती की लाश

एक सप्ताह पहले गायब हो गया था
श्रीगंगानगर। पदमपुर थाना क्षेत्र में बीबी नहर में बरामद हुआ शव श्रीगंगानगर के युवक का था। यह युवक एक सप्ताह पहले गायब हो गया था। परिवार वाले उसकी तलाश कर रहे थे। पदमपुर थानाप्रभारी दलीप खत्री ने बताया कि मंगलवार को बीबी नहर में पानी में बहकर आये शव की पहचान श्रीगंगानगर में एसएसबी रोड पर स्थित अर्जुन कॉलोनी निवासी मनोज (34) पुत्र जगदीशराय अरोड़ा के रूप में हुई है। कल शाम को मिले शव की तस्वीरें पदमपुर पुलिस ने सोशल मीडिया पर जारी करने के साथ इलाके के सभी पुलिस थानों को भेजी थी। जवाहरनगर थाना पुलिस ने तस्वीरों को देखकर बताया कि यह युवक अर्जुन कॉलोनी का मनोज हो सकता है, जिसकी गुमशुदगी रिपोर्ट 30 जनवरी को ही दर्ज हुई है। जवाहरनगर पुलिस ने मनोज के घर वालों को पदमपुर में शव मिलने के बारे में जानकारी दी। मनोज का भाई मुकेश अपने परिवारजनों-परिचितों को लेकर सुबह पदमपुर के लिए गया, जहां मुर्दाघर में रखे शव को देखकर उन्होंने पहचान कर दी।

युवती की लाश बरामद
इस बीच भारत-पाक सीमा पर स्थित श्रीकरणपुर थाना क्षेत्र मेें बुधवार को एक नहर में पानी के साथ बहकर आई एक अज्ञात युवती की लाश बरामद हुई। थानाप्रभारी अनिल मूंड ने बताया कि श्रीकरणपुर के नजदीक रूपनगर के पास नहर में यह लाश मिली है, जो बुरी तरह से सड़ी-गली हालत में थी। लाश लगभग 20 दिन पुरानी लग रही थी। हालत यह थी कि उसे पोस्टमार्टम की औपचारिकता के लिए अस्पताल भी नहीं ले जाया जा सकता था। डॉक्टर को मौके पर ही बुलवाकर पेास्टमार्टम करवाना पड़ा। इस सम्बंध में मर्ग रिपोर्ट दर्ज की गई है।

थर्मल में सेफ्टी बैल्ट टूटने से मजदूर की मौत
– सुपर क्रिटिकल इकाई-8 में हुआ हादसा
श्रीगंगानगर। सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट में 660-660 मेगावाट की निर्माणाधीन सुपर क्रिटिकल साइट पर एक और हादसा हो गया, जिसमें युवा मजदूर की मौत हो गई। यह हादसा मंगलवार देर शाम को सुपर क्रिटिकल इकाई-8 में बायलर साइट पर हुआ। पुलिस के मुताबिक बायलर साइट पर पावरमैक कम्पनी का 20-21 वर्षीय मजदूर नखिन्द्र पुत्र रूपुनी तौड़ा सेफ्टी बैल्ट पहने हुए काफी ऊंचाई पर वैल्डिंग का काम कर रहा था। अचानक सेफ्टी बैल्ट टूट जाने से वह नीचे आ गिरा। उसकी गर्दन की हड्डी टूट गई। नखिन्द्र को तत्काल सूरतगढ़ के सरकारी अस्पताल में लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार देकर डॉक्टरों ने श्रीगंगानगर के लिए रैफर कर दिया। यहां लाये जाने के कुछ ही देर बाद रात्रि करीब 11 बजे उसकी मौत हो गई। नखिन्द्र उड़ीसा में उगली जिला अंतर्गत थाना खम्बर के गांव वाड़ासाड़ा का निवासी है। उसके गांव के पास के गांव पीटा निवासी मजदूर प्रशांत चौसा की रिपोर्ट पर राजियासर थाना में मर्ग रिपोर्ट दर्ज की गई। बुधवार को श्रीगंगानगर जिला अस्पताल में नखिन्द्र का शव पेास्टमार्टम करवाये जाने के बाद प्रशांत व साथी मजदूरों के सुपुर्द कर दिया गया। सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट में मजदूरों को कार्य करते समय तमाम तरह की सुरक्षा मुहैया करवाये जाने की मांग लम्बे समय से मजदूर संगठन कर रहे हैं। इस तरफ किसी का भी ध्यान नहीं है। पहले भी ऐसे हादसों में अनेक मजदूर अपनी जानें गवां बैठे हैं।


correspondent

Sanjay Sethi

Sanjay Sethi

%d bloggers like this: