खुशी परियोजना का शुभारंभ

अजमेर।
महिला एवं बाल विकास मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में महिलाओं एवं बालकों के विकास एवं संरक्षण के प्रति संवेदनशील होकर काम कर रही है। मुख्यमंत्राी  वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में पिछले दो सालों में महिलाओं एवं बच्चों के सशक्तिकरण के लिए कई योजनाएं लागू की गई हैं। बड़े स्तर पर आमजन को इनका लाभ मिला है। महिला एवं बाल विकास मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से अजमेर में आंगनबाड़ी केन्द्रों के सशक्तिकरण के लिए खुशी परियोजना का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले दो वर्षों में महिलाओं एवं बालकों के संवर्द्धन एवं सशक्तिकरण के लिए बड़े पैमाने पर कार्य हुए है। राज्य में लोगों को इसका फायदा भी मिल रहा है। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 6 वर्ष से कम आयु के शिशुओं के लिए विशेष प्रबन्ध किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि खुशी परियोजना के माध्यम से अजमेर शहर की आंगनबाड़ियों में हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से कार्य किया जाएगा। इसके तहत आंगनबाड़ियों में गुणवत्तापूर्ण शाला पूर्व शिक्षा, बच्चों एवं उनके अभिभावकों में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना, पूर्वक पोषाहार की आपूर्ति, आवश्यकता के आधार पर सहायक सामग्री की आपूर्ति, समुदाय के लोगों की आंगनबाड़ी में सहभागिता बढ़ना तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को नियमित सहयोग प्रदान किया जाएगा। भदेल ने कहा कि यह परियोजना आगामी पांच साल तक जारी रहेगी। इसके तहत बच्चों का आंगनबाड़ी में चार घण्टे ठहराव सुनिश्चित कर उन्हें स्कूल में प्रवेश दिलवाया जाएगा। कुपोषित बच्चों की संख्या में कमी लाने के लिए विशेष सुधार किए जाएगें। शाला पूर्व शिक्षण के लिए बाल सहज पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण आदि कार्य भी किए जाएगे। कार्यक्रम में हिन्दुस्तान जिंक की नीलिमा खेतान एवं अजमेर यूनिट प्रमुख  के.सी.मीना ने परियोजना का परिचय दिया। भदेल सहित सभी अतिथियों ने परियोजना का पोस्टर भी जारी किया। कार्यक्रम में अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: