अनार के उद्यान व बागीचे की स्थापना पर मिलेगा अनुदान

बीकानेर, 25 मई। जिले में अनार के उद्यान व बागीचा की स्थापना करने वाले कृषकों को उद्यान विभाग की ओर से प्रति हैक्टेयर 30 हजार रुपए का अनुदान प्रदान किया जाएगा। इसके लिए कृषकों के पंजीकरण का कार्य प्रारंभ कर दिया है।
सहायक निदेशक (उद्यान) रेणु वर्मा ने बताया कि जो कृषक अनार बागीचा स्थापित करने के इच्छुक हैं, वे उद्यान विभाग में अपना पंजीकरण 15 जून 2016 तक करवाकर जुलाई-अगस्त में पौधरोपण कर अनुदान का लाभ ले सकते हैं। पंजीकरण के लिए 15 जून के पश्चात किसी भी प्रकार का कोई भी आवेदन स्वीकार्य नहीं किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि अनार का बगीचा 5 गुणा 5 मीटर की दूरी अनुसार स्थापित करने पर कृषक के 400 पौधे लगने पर 24 हजार रुपए प्रति हैक्टेयर अनुसार अनुदान देय होगा। इसी प्रकार अनार का बगीचा 4 गुणा 3 मीटर की दूरी अनुसार स्थापित करने पर कृषक को 833 पौधे लगाने पर 30 हजार रुपए प्रति हैक्टयर का अनुदान देय होगा।
कार्यक्रम प्रभारी मुकेश गहलोत ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत कृषि जलवायुवीय स्थितियों के अनुसार अनार बागीचों, उद्यानों की स्थापना के लिए लागत मापदंड के अनुसार अनुदान उपलब्ध कराये जाने का प्रावधान है। इकाई लागत का 50 प्रतिशत अथवा अधिकतम राशि रुपए 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर। एक लाभार्थी को अधिकतम 4 हेक्टेयर के लिए सहायता देय है जो कि प्लान्टिंग मैटेरियल, उर्वरक तथा पौध संरक्षण रसायनों पर देय है। यह सहायता कृषकों को तीन किश्तों में उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रथम वर्ष में सहायता राशि का 60 प्रतिशत एवं द्वितीय वर्ष में 75 प्रतिशत पौधे जीवित होने की दशा में 20 प्रतिशत एवं तृतीय वर्ष में 90 प्रतिशत पौधे जीवित होने की दशा में 20 प्रतिशत । ये समस्त सहायता अनुसूचित जाति जनजाति क्षेत्रा के लिए 50 प्रतिशत की दर से उपलब्ध करवाई जाएगी।
गहलोत ने बताया कि कृषकों का चयन ’पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर किया जाएगा। चयनित कृषक के पास सिंचाई सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए। कृषक आधुनिक फसल उत्पाद तकनीक व बूंद-बूंद सिंचाई विधि अपनाने पर सहमत होना चाहिए। आधुनिक हाइटेक बागवानी अपनाने के इच्छुक कृषकों को चयन में प्राथमिकता दी जाएगी।
—–


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: