आईसीएआर की राष्ट्रीय परियोजना का शुभारंभ

बीकानेर, 25 मई। स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विश्वविद्यालयअ के कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय परियोजना का शुभारंभ परिषद के उप महानिदेशक (शिक्षा) डॉ एन. एस. राठौड ने किया।
उन्होंने भारत में कृषि क्षेत्रा में पेशेवरों की मांग-आपूर्ति विश्लेषण परियोजना के शुभांरभ के समय आई.सी.ए.आर के नये कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होने आश्वासन दिया कि राजस्थान से आने वाली परियोजनाओं के प्रस्तावों को प्राथमिकता देंगे। आत्मा के निदेशक डॉ. बी.आर. कड़वा ने कृषि में उपलब्ध चुनौतियों, बाधाओं, दक्ष व्यवसाईयों की अपेक्षाओं, सरकार की योजनाओं एवं व्यवसायिक संस्थानों से विद्यार्थियों तथा किसानों की अपेक्षाओं से अवगत कराया। आई.ए.आर.आई वैज्ञानिक डॉ. आकृति शर्मा ने बताया कि व्यावहारिक अनावरण एवं स्थाई संकाय के विश्वविद्यालयों में सुनिश्चिता पर जोर दिया। उद्यमी गोपाल जाखड़ ने बताया कि स्नातक पाठयक्रम के विद्यार्थियों पर कौशल आधारित विपणन, वित्तीय एवं व्यक्तित्व विकास पर काम करना होगा।
कार्यक्रम के अध्यक्ष एवं कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा ने इस परियोजना को दूरगामी कदम बताते हुए इसे कृषि संवर्धन के लिए सुदृढ़ आधार प्रदान करने वाली योजना बताया। उद्योगपति कन्हैयालाल बोथरा ने इसे उद्योगों एवं कृषि के बीच संवाद का एक उत्कृष्ठ उदाहरण बताते हुए कृषि विशेषज्ञों से व्यापारियों की आशाओं पर खरा उतरने का आह्वान किया। संस्थान के निदेशक डॉ. वाई. सुदर्शन ने सभी अतिथियों का अभिनंदन किया।
कुलसचिव डॉ. आई.जे. गुलाटी ने आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में वैज्ञानिक, व्यापारिक विचार विमर्श एवं एक ऑनलाइन सर्वे की शुरूआत भी की गयी, इस अवसर पर दो पुस्तको का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में मंच संचालन डॉ. अमिता शर्मा ने किया।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: