सिंहस्थ: अब होगी संतों की बिदाई

उज्जैन।  21 मई को अमृत स्नान के साथ सिंहस्थ महाकुंभ संपन्न् हो जाएगा। विभिन्न् अखाड़ों के साथ खालसों के संत महात्मा अब लौटने की तैयारी कर रहे हैं। कुछ ने फ्लॉइट में टिकट बुक कराई है, तो कुछ ट्रेनों से रवाना होंगे। बड़ी संख्या में बस तथा टेक्सियां भी हायर की गई हैं। संतों की बिदाई वेला के इंतजामों पर एक रिपोर्ट।
फ्लॉइट से जाएंगे मांई के भक्त
पंच दशनाम जूना अखाड़ा की महामंडलेश्वर मांई सुनीतानंद गिरी जी 22 मई को तड़के 4 बजे इंदौर के लिए रवाना होगी। यहां से दोपहर 12 बजे जेट एयरवेज की फ्लाइट से जम्मू जाएंगी। उनके साथ करीब 100 भक्त भी रहेंगे। डॉ.देवेंद्र जड़ियाल ने बताया सिंहस्थ सआनंद संपन्न् हो गया है, अब सुंदरबनी आश्रम लौटना है।

करीब 100 भक्त उनके साथ इंदौर से दिल्ली होते हुए जम्मु पहुंचेंगे। 22, 23 और 24 मई में मालवा एक्सप्रेस में करीब 600 भक्तों के लिए आरक्षण कराया गया है। तीन ट्रकों में भरकर समान ले जाया जाएगा। इसके लिए कुछ भक्त यहीं रुकेंगे।
23 मई को बनारस जाएंगे शंकराचार्य
सुमेरू काशी पीठ के शंकराचार्य जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती अमृत स्नान के बाद 2 दिन शहर में रहेंगे। भक्तों का अग्रह स्वीकार करते हुए उन्होंने कुछ कार्यक्रमों में शामिल होने की अनुमति दी है। स्वामीजी ने बताया 23 मई को

25 को जाएंगे अवधेशानंदजी
जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंदगिरी 25 मई को उज्जैन से रवाना होंगे। अमृत स्नान के बाद आचार्य तीन दिन यही रहेंगे। वहीं स्वामी सत्यमित्रानंदजी 21 तारीख को ही रवाना हो जाएंगे।


correspondent

DesertTimes.in

DesertTimes.in

%d bloggers like this: